लोकसभा चुनाव: दिल्ली में बनी रणनीति, 18 सीटों के उम्मीदवारों पर मंथन

congress-screening-committee-meeting-held-in-Delhi--

भोपाल। लोकसभा चुनाव को लेकर उम्मीदवारों के चयन के लिए शनिवार को दिल्ली में कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक संपन्न हुई। इस बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सर्वे रिपोर्ट के आधार पर उम्मीदवारों के नामों पर मंथन किया। कांग्रेस मार्च में ही उम्मीदवारों का ऐलान करना चाहती है। जिससे उम्मीदवारों को प्रचार करने का अधिक समय मिल सके। सूत्रों के मुताबिक छह सीटों पर सिंगल नाम तय हो गए हैं। वहीं, छिंदवाड़ा, गुना और रतलाम सीट के लिए पहले से उम्मीदवारों का चयन हो चुका है। 

जानकारी के मुताबिक स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री के सामने मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उम्मीदवारों के नाम सामने रखे। सूत्रों के मुताबिक 18 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों पर मंथन हुआ। इसमें से छह सीटों पर सिंगल नाम सामने आए हैं। जबकि छिंदवाड़ा, गुना और रतलाम के लिए पहले से नाम तय माने जा रहे हैं। इन तीन सीटों पर कोई चर्चा नहीं की गई। 

इन सीटों पर हुई रायशुमारी

टीकमगढ़, सतना, बालाघाट, उज्जैन, रीवा, मंदसोर होशंगाबाद, धार, शहडोल, बैतूल, सागर, खरगौन, मंडला, दमोह, विदिशा, खजुराहो, सीधी और भिंड सीट के उम्मीदवारों को लेकर मंथन किया गया। इनमें से अधिकांश पर दो नामों की पैनल तैयार की गई है। किसी पर सिंगल नाम तो कुछ पर चार से पांच दावेदार के नाम हैं। इनके अलावा भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर की बैठक अभी अलग से होगी। बताया जा रहा है भोपाल सीट से कांग्रेस दिग्विजय सिंह को टिकट दे सकती है। उनके अलावा संदीप दीक्षित का नाम भी रेस में शामिल है। 

इन तीन सीटों पर पहले से नाम तय

छिंदवाड़ा, गुना और रतलाम सीट पर फिलहाल कोई चर्चा नहीं हुई है। कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद छिंदवाड़ा सीट खाली हुई है। इस सीट पर उनके बेटे नकुल की दावेदरी जताई जा रही है। गुना सीट सिंधिया की पारंपरिक सीट है। हालांकि, उनके ग्वालियर से चुनाव लड़े जाने पर अटकलें हैं। अगर वह ग्वालियर से चुनाव लड़ते हैं तो उनकी पत्नी को इस सीट से टिकट मिल सकता है। वहीं, रतलाम से वर्तमान सांसद कांतिलाल भूरिया को टिकट मिलेगा।