पूर्व मंत्री पटवारी पर एफआईआर के बाद कांग्रेसी हुए उग्र, डीआईजी से मिलकर कि बीजेपी नेताओं के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग

इंदौर, आकाश धोलपुरे

मध्यप्रदेश के इंदौर में पूर्व मंत्री और राउ विधानसभा क्षेत्र के विधायक जीतू पटवारी पर हुई एफआईआर के विरोध में सोमवार को कांग्रेसी लामबंद होकर डीआईजी कार्यालय पहुंचे। जहां भाजपा सरकार और पुलिस के रवैये के खिलाफ बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी भी की। कांग्रेसियों का आरोप है पुलिस प्रशासन ने बीजेपी के दबाव में आकर बिना जांच किये ही जीतू पटवारी पर केस दर्ज कर लिया है।

सोमवार दोपहर को शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय वाकलीबाल, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कृपाशंकर शुक्ला, कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष अर्चना जायसवाल, कांग्रेस विधायक विशाल पटेल, चिंटू चौकसे सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसियों ने मांग की है कि शहर में रात का कर्फ्यू जारी है और ऐसे में देर रात बीजेपी नेता एकत्रित होकर उसका उल्लंघन कर रहे है और पुलिस ने उन पर कोई कार्रवाई न करते हुए बिना जांच किये जीतू पटवारी पर प्रकरण दर्ज कर लिया।

शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने कहा कि जब बीजेपी के नगर अध्यक्ष तुकोगंज थाना क्षेत्र में रहते है और बीजेपी कार्यालय संयोगितागंज थाना क्षेत्र में तो फिर क्यो पुलिस ने छत्रीपुरा थाने में मामला दर्ज किया। वही उन्होंने कहा कि विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है और कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओ के खिलाफ सोशल मीडिया पर की गई टिप्पणीयो को भी बतौर सबूत डीआईजी को सौंपा गया। अब पुलिस उन पर भी मामला दर्ज करे।

कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि यदि बीजेपी नेताओं पर प्रकरण दर्ज नही किया गया तो कांग्रेस सड़क पर उतरकर जन आंदोलन करेगी। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय वाकलीबाल ने इंदौर के बीजेपी नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, मंत्री अरविंद भदोरिया, मंत्री तुलसी सिलावट, प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा सहित अन्य नेताओं पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

इधर, इस मामले में इंदौर डीआईजी हरिनारायणचारि मिश्र ने कहा मुख्य तौर पफ एक राजनीतिक दल के प्रतिनिधिमंडल ने पिछले दिनों एक प्रकरण कायम हुआ था उस सिलसिले में और कुछ दस्तावेज दिए है जिनके परीक्षण के बाद संबंधित वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

बता दे कि शनिवार रात को पीएम मोदी को लेकर पूर्व मंत्री पटवारी ने एक ट्वीट किया था जिसमे पीएम की टेम्परिंग की गई फ़ोटो को लेकर विवाद खड़ा हुआ था और इसके बाद पूर्व मंत्री पर मुकदमा भी दर्ज कराया गया था जिसके बाद आज कांग्रेसियों ने आरोप लगाए की पुलिस प्रशासन बीजेपी के दबाव में है और अब पुलिस बीजेपी नेताओं के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज करे कांग्रेस ने पूरे मामले को लेकर एक ज्ञापन भी डीआईजी इंदौर को सौंपा है।