मप्र

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। दिवाली के कारण प्रदेश के सभी शहरों में खरीदारी चरम पर रही। खासकर इंदौर और भोपाल में ना सिर्फ फुटकर बल्कि थोक बाजारों में भी चमक देखी गई। लेकिन इस त्योहारी शॉपिंग में आमजन और दुकानदारों द्वारा जो लापरवाही बरती गई उसके दुष्परिणाम सामने आने लगे हैं। कोरोना संक्रमण (corona virus) की संख्या में तेजी दिवाली के बाद से फिर होने लगी है। इसकी बानगी मिली जब बुधवार को इंदौर में ज्वेलर्स के 20 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव निकले। इसके अलावा वहीं इंदौर के खाद्य मिठाई व्यापारी के भी कर्मचारी और परिजनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यही हाल भोपाल में भी देखने को मिल रहा है। यहां बैरागढ़ कोलार में मामले फिर बढ़ने लगे हैं। भोपाल में आज फिर से 231 नए मरीज मिले हैं। कोरोना के इस हमले ने प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है।

भोपाल में आज कोरोना के 231 नए मरीज सामने आए है, साथ ही एक मरीज की मौत हुई है। यहां अब कोरोना के कुल 28360 मरीज हो गए है। भोपाल में अब तक कोरोना से 502 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं एक्टिव केसों की संख्या 1867 पर पहुंच है। भोपाल में आज 212 मरीज स्वस्थ हो कर अपने घर वापस लौटे है। अब तक कुल 25991 मरीज कोरोना से स्वस्थ हो चुके है। बतादें अभी तक भोपाल में 379972 कोरोना की जांच हो चुकी है।

नवंबर में भोपाल का ट्रैक रिकॉर्ड
31 अक्टूबर तक भोपाल में कोरोना के कुल 24 हज़ार मामले थे, जबकि 15 नवंबर आते-आते यह संख्या 27 हज़ार पार कर गई। आंकड़े देखने पर पता चलता है कि जिस अवधि में लोग दिवाली के लिए शॉपिंग कर रहे थे उसी समय पर संक्रमित भी हो रहे थे। इसलिए सिर्फ 15 दिनों में भोपाल में 3 हज़ार से ज्यादा मरीज मिले हैं। वही प्रतिदिन दो व्यक्ति की मौत कोरोना वायरस से हो रही है।