फ्लोर से पहले कांग्रेस विधायकों का कोरोना टेस्ट, सरकार की अग्निपरीक्षा कल

भोपाल।

जहां एक तरफ एमपी(mp) की सियासत पल पल कुछ नया दिखा रही है वहीं दूसरी तरफ कमलनाथ सरकार(kamalnath government) कोरोना वायरस(coronavirus) को लेकर भी सतर्क है। कमलनाथ सरकार 5 दिन जयपुर में रहकर आने वाले कांग्रेस विधायकों का कोरोना टेस्ट के लिए जांच करवा रही है।

बता दें कि जयपुर(jaipur) में 5 दिन गुजारने के बाद कांग्रेस के 85 विधायक रविवार को भोपाल वापस आ गए। और वहां से वह सीधे होटल मैरियट के लिए रवाना हुए। जहां रविवार शाम को डॉक्टरों9doctors) की एक टीम उन विधायकों का सैंपल(sample) लेने पहुंची है। यह टेस्ट देश में कोरोना(corona) के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से किया जा रहा है। गौरतलब है कि कांग्रेस(congress) ने सुरक्षा की दृष्टि से प्रदेश में चल रहे राजनीतिक गतिविधियों की वजह से अपने विधायकों को जयपुर भिजवा दिया था। जिसके बाद कल कांग्रेस ने व्हिप जारी करते हुए अपने सारे विधायकों को वापस भोपाल(bhopal) बुला लिया था। विधायकों को भोपाल के होटल मेरियट में ठहराया गया है। जहां डॉक्टरों की एक दल कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए विधायकों की जांच में लगी है। स्वास्थ्य विभाग करुणा वायरस के संक्रमण को देखते हुए एहतियात बरत रहा है। वही जयपु(jaipur)र से लौटे कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी(kunal choudhary) का कहना है कि मेडिकल जांच इसलिए भी आवश्यक है ताकि किसी भी तरह की बीमारी का खतरा न रहे।

इससे पहले कमलनाथ सरकार के मंत्री पीसी शर्मा(p c sharma) ने भी जांच की वकालत करते हुए कहा था जयपुर, बेंगलुरु और गुरुग्राम में कोरोना से संक्रमित मरीज पाए गए हैं। जिस वजह से वहां से लौटे विधायकों की जांच आवश्यक है।