मप्र में 24 घंटे में 1645 नए कोरोना पॉजिटिव, इन जिलों में हालात गंभीर, सख्ती की तैयारी

मप्र

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 93 लाख के पार पहुंच गई है, वही मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में आंकड़ा 2 लाख को छू गया है। पिछले चौबीस घंटों में 1645 नए केस सामने आए, जिसके बाज प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 1 हजार 597 हो गई। वहीं दूसरी ओर 15 मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो गई, अब तक 3224 मरीजों की मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग (Health Department) द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, शुक्रवार को 1645 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं,जिसके बाद अब प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 1 हजार 597 हो गई। इसी के साथ प्रदेशभर में 1152 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए हैं। वहीं दूसरी ओर 15 मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो गई। मध्यप्रदेश में अब तक 3224 मरीजों की मौत (Death) हो चुकी है। वहीं प्रदेश में स्वस्थ होने वालों मरीजों की संख्या में अच्छी बढ़ोतरी हो रही है। प्रदेश में अब तक 1 लाख 83 हजार 696 मरीज स्वस्थ हुए हैं।हालांकि नए मरीजों के तेजी से सामने आने का सिलसिला भी जारी है।

मरीजों की मौत के मामले में इंदौर और भोपाल आगे

पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से इंदौर (Indore) में तीन,भोपाल (Bhopal) और सागर में दो-दो, ग्वालियर, खरगोन, रतलाम, होशंगाबाद, विदिशा, खंडवा, छतरपुर और सीधी में एक-एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है। राज्य में अब तक कोरोना वायरस से सबसे अधिक 749 मौत इंदौर में हुई हैं, जबकि भोपाल में 513, उज्जैन में 100, सागर में 138, जबलपुर में 221 एवं ग्वालियर में 180 लोगों की मौत हुई हैं। बाकी मौतें अन्य जिलों में हुई हैं।

इंदौर में रोजाना 500 और भोपाल में 300 से ज्यादा मिल रहे केस
प्रदेश में शुक्रवार को कोविड-19 के 556 नये मामले इंदौर जिले में आये हैं, जबकि भोपाल में 313, ग्वालियर में 95 और जबलपुर में 85 नये मामले आये। प्रदेश में कुल 2,01,597 संक्रमितों में से अब तक 1,83,696 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गये हैं और 14,677 मरीज़ों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।

मुख्यमंत्री शिवराज ने दिए सख्ती के निर्देश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने साफ़ कर दिया है कि प्रदेश के जिन जिलों में कोरोना संक्रमण अधिक है, वहां क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की सलाह अनुसार वैवाहिक आयोजनों में संख्या संबंधी प्रतिबंध लगाया जाएं, परंतु जिन जिलों में प्रकरण कम हैं, वहां वैवाहिक आयोजनों पर अनावश्यक प्रतिबंध न लगाए जाएं। मास्क न लगाने तथा कोरोना संबंधी अन्य सावधानियां न बरतने पर कुछ समय के लिए ‘ओपन जेल’ में रखा जाए। जो लोग ‘होम आइसोलेशन’ में हैं, उनके घर के बाहर तत्संबंधी सूचना प्रदर्शित की जाए, जिससे वे घर से बाहर न निकलें।

नही लगेगा लॉकडाउन
वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh CHauhan) पहले ही साफ़ कर चुके है कि आर्थिक गतिविधियों को सुचारू रखने के लिए प्रदेश में अब लॉकडाउन (Lockdown) नहीं लगाया जाएगा। जिन क्षेत्रों में अधिक संक्रमण है वहां छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे। हम पूरी सावधानियां बरतते हुए कोरोना का डटकर मुकाबला करेंगे तथा उसे शीघ्र परास्त करेंगे।

 

इन जिलों में विशेष ध्यान देने के निर्देश
जिलावार समीक्षा में पाया गया कि कोरोना के सर्वाधिक नए प्रकरण इंदौर में 556 आए हैं, उसके बाद भोपाल में 313, ग्वालियर में 95, जबलपुर में 85, रतलाम में 51 तथा विदिशा में 33 नए प्रकरण आए हैं। इन जिलों पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश मुख्यमंत्री चौहान द्वारा दिए गए।

91.1 प्रतिशत रिकवरी रेट
प्रदेश में कोरोना की रिकवरी रेट 91.1 प्रतिशत है, पॉजिटिविटी रेट 5.5 प्रतिशत है तथा मृत्यु दर 1.6 प्रतिशत है। कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या 14 हजार 677 है तथा प्रदेश में प्रति 10 लाख व्यक्ति कोरोना टैस्ट की संख्या 42 हजार 889 है।