MP Corona: नए साल में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, आज 200 से ज्यादा नए केस, CM का बड़ा बयान

नए साल में तीसरी लहर की दस्तक के साथ एक्टिव केसों की संख्या 700 पार हो गई है। आज सोमवार 3 जनवरी 2022 को 200 से ज्यादा नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए है

mp corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP Corona Update) में कोरोना का कोहराम जारी है।नए साल में तीसरी लहर की दस्तक के साथ एक्टिव केसों की संख्या 700 पार हो गई है। आज सोमवार 3 जनवरी 2022 को 200 से ज्यादा नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए है, जिसमें 110 तो सिर्फ इंदौर में ही मिले है। इससे पहले रविवार को 151 और शनिवार को 124 केस मिले थे। लगातार बढ़ते केसों के बाद संक्रमण दर 0.30% और रिकवरी रेट 98.0 से ज्यादा हो गया है। राहत की खबर ये है कि पिछले 24 घंटे में 18 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे है और रिकवरी रेट 98 प्रतिशत से ज्यादा है।चिंता की बात ये है कि नाइट कर्फ्यू के बावजूद लगातार केस बढ़ रहे है और इंदौर हॉट स्पॉट बन गया है।

यह भी पढ़े.. Budget 2022-23: किसानों के लिए खुशखबरी! मोदी सरकार दे सकती है बड़ा तोहफा

आज सोमवार 3 जनवरी 2022 को 221 नए केसों में इंदौर में 110, भोपाल में 54, ग्वालियर में 9, रतलाम में 2, उज्जैन में 8, जबलपुर-सागर-खंडवा में 4-4 और खरगोन में 5 पॉजिटिव मिला है,  जिसके बाद प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 773 (MP Corona Update today) हो गई है।नए साल के लगते ही मध्य प्रदेश के करीब 30 जिलों में कोरोना पहुंच गया है।  वर्तमान में भोपाल में 137 तो इंदौर में 438 के करीब एक्टिव केस हैं।राहत की खबर ये है कि पिछले 24 घंटे में 54 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं।

यह भी पढ़े.. MPTET Exam 2022: शिक्षक भर्ती परीक्षा को लेकर नई अपडेट, 5 मार्च से परीक्षा, ये होंगे नियम

रविवार को क्रॉइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)  ने कहा है कि मध्य प्रदेश में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसलिए तीसरी लहर से बचने की पूरी तैयारी रखने की जरूरत है। होम आइसोलेशन हमारी प्राथमिकता होगी, जिनको घर में रखें उन्हें किट भी दें। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में निजी अस्पतालों का अनुबंध 31 मार्च 2022 तक बढ़ाया गया है। इसके लिए सभी कलेक्टर तेजी से अनुबंध करें। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में प्रभारी मंत्री के निर्देशन में कलेक्टर प्राइवेट अस्पतालों से अनुबंध कर लें। सार्थक पोर्टल पर बिस्तरों की संख्या उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।