गरबे पर संस्कृति मंत्री का बड़ा बयान, मुस्लिम समाज के लिए कही ये बात

bjp-mla-from-indore-said-nathuram-godse-was-a-nationalist

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर (Usha Thakur) ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जो अल्पसंख्यक अपने धर्म से ऊब गए हों, वे गरबा महोत्सव (Garba Mahotsava) में आ सकते हैं। मध्यप्रदेश में होने वाले गरबा महोत्सव को लेक उनका ये बड़ा बयान सामने आया है। हाल ही में उन्होने कहा था कि नवरात्रि (Navratei) के दौरान होने वाले गरबा पंडालों (Garba Pandal) में आईडी कार्ड देखकर ही प्रवेश दिया जाएगा। इसके बाद बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने चेतावनी जारी कर दी थी कि मुस्लिम समाज (Muslim Samaj) गरबा पंडालों से दूर रहे।

MP College : UG छात्रों के लिए राहत भरी खबर, NEP 2020 के तहत बड़े बदलाव, असफल होने पर मिलेगा दूसरा मौका, जानें नियम

लेकिन अब मंत्री उषा ठाकुर ने इसी मामले पर नया बयान देकर सबको चौंका दिया है। उन्होने कहा है कि जो भी अल्पसंख्यक अपने धर्म से ऊब गए हैं वो गरबा महोत्सव में आ सकते है। उन्होने कहा कि जिस भी मुस्लिम व्यक्ति की मूर्ति पूजन में आस्था है वो गरबा पंडाल में अपने परिवार के साथ आ सकते हैं। इसी के सााथ उन्होने अल्पसंख्यक वर्ग को गरबा महोत्सव में आने का निमंत्रण दे दियाा है। उन्होने कहा कि अन्य धर्म के लोग अगर गरबा महोत्सव में आना चाहते हैं उन्हें परिचय पत्र दिखाकर प्रवेश दिया जाएगा।

बता दें कि गरबा महोत्सव के दौरान मुस्लिम समाज के पंडाल में प्रवेश को लेकर हमेशा से ही विवाद रहा है। पिछले दिनों उषा ठाकुर ने भी कहा था कि गरबा पंडाल लव जिहाद का जरिया बनते जा रहे हैं। वहीं बजरंग दल ने चेतावनी भी दी थी कि कोई मुस्लिम इन पंडालों में नजर नहीं आना चाहिए। उनका कहना था कि मुस्लिम युवक यहां आते हैं और हिंदू युवतियों को अपने प्रेमजाल में फंसा लेते हैं। इसी दौरान चेतावनी जारी करते हुए बजरंग दल ने विवादित टिप्पणी भी की थी। लेकिन अब उषा ठाकुर का नया बयान सामने आने के बाद मामले का रुख बदलता नजर आ रहा है।