प्रदेश में 20 करोड़ के साइबर फ्रॉड का खुलासा, नरोत्तम मिश्रा ने कही ये बड़ी बात

नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश की पुलिस ने साइबर फ्रॉड में बड़ी सफलता हासिल की है। बालाघाट जिले में 20 करोड़ की साइबर हेराफेरी का खुलासा हुआ है और अब तक 8 लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसे लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि ये  कार्रवाई अभी जारी है। मध्यप्रदेश की पुलिस दूसरे राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर गिरोह की परत खुल रही है। इसी के साथ उन्होने लोगों से अपील की है कि ऑनलाइन धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के जाल में में न फंसे। अगर कोई भी प्रदेश का व्यक्ति इस फ्रॉड में फंसा है तो पुलिस से संपर्क करें।

बालाघाट में 20 करोड़ के बड़े मोबाइल फ्रॉड का खुलासा, अंतर्राज्यीय गैंग से जुड़ा नेटवर्क, कई अरेस्ट

बता दें कि बालाघाट पुलिस ने गृह मंत्रालय, भारत सरकार (Ministry of Home Affairs, Government of India) और मध्यप्रदेश पुलिस, झारखंड पुलिस (MP Police), आंध्रप्रदेश पुलिस समेत 18 राज्यों की पुलिस की मदद से 20 करोड़ के बड़े सायबर फ्रॉड का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने नेटवर्क के एक सर्किट को पकड़ा है, जबकि इस पूरे मामले में 700 लोगों के शामिल होने की आशंका है, जो देश और प्रदेश का सबसे बड़ा सायबर फ्रॉड साबित हो सकता है।

इस पूरे मामले में विभिन्न कंपनियों के 300 से ज्यादा मोबाइल सहित 9 एलईडी टीवी, 10 लाख रूपये नगद, 75 से अधिक क्रेडिट कार्ड, हार्ड डिस्क, लैपटॉप सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामान की बरामदगी हुई है। पुलिस ने आरोपियों के 30 से अधिक खातों को फ्रीज कर दिया है। पुलिस की मानें तो OTP और क्रेडिट कार्ड (Cridit Card) धोखाधड़ी के माध्यम से की गई ठगी की राशि से सायबर फ्रॉड कर रहा नेटवर्क ऑनलाईन मार्केटिंग (Online Marketing) के माध्यम से फर्जी आईडी, मोबाईल नंबर, पते पर मोबाईल सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स सामान बुलवाकर कालाबाजारी को बढ़ावा देकर उत्पाद बिक्री में कर चोरी, मनी लांड्रिग और आदतन चोरी के माल के लेनदेन में शामिल विभिन्न चरणों को चला रहे थे। इस पूरे मामले में कोतवाली पुलिस ने धारा 419,420,467,468 भादंवि एवं 66 बी, 66 डी आईटी एक्ट का मामला कायम कर विवेचना में लिया है।