मप्र में फैनी तूफान का असर, कई इलाको में चली आंधी, हुई तेज बारिश

cyclone-fani-effect-in-madhya-pradesh-heavy-rain-in-many-district-

भोपाल|   बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान फेनी ओडिशा के तट से टकराने के बाद पुरी में भीषम तबाही मचाई है।  चक्रवाती तूफान ‘फैनी’ लगातार और तूफानी होता जा रहा है। इसका असर मध्य प्रदेश में भी शुरू हो गया है| प्रदेश के कई जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश हो रही है| सतना, सिंगरौली, रीवा समेत विंध्य क्षेत्र में कई इलाकों सहित प्रदेश के अलग अलग हिस्सों में तूफ़ान का असर देखने को मिल रहा है, यहां तेज हवा के साथ बारिश की खबरें हैं|  वहीं गुना में भी बारिश हुई है| फेनी तूफान के असर से वातावरण में नमी बढ़ने के साथ ही शुक्रवार को पूर्वी मप्र में तेज हवाएं चलने के साथ ही गरज-चमक की स्थिति बनी। साथ ही बादलों के कारण प्रदेश में कई स्थानों पर दिन के अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 44 डिग्रीसे. दमोह में रिकार्ड किया गया। 

रीवा में शाम से जिले में तेज हवाएं चल रही है। शाम करीब चार बजे से आसमान में बादल छा गए, शुरुआत में हल्की हवा चली। शाम करीब छह बजे तेज हवा चलने लगी। करीब आधा घंटे हवा चलने के बाद बारिश शुरु हुई। करीब 15 मिनट तक हल्की बारिश हुई। आसमान में बादल छाए हुए हैं। वहीं सतना में 4 बजे के बाद अचानक झमाझम बारिश शुरू हो गई। बारिश का ये सिलसिला सतना शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 1 से 2 घंटे तक चला। बस स्टैंड समेत कई निचली बस्तियों में जल भराव हुआ है। वहीं आंधी-तूफान के साथ अचानक आई बारिश से कई जगह पेड़-पौधों के गिरने की खबर भी आ रही है। सिंगरौली में तेज आंधी चलने से धुल का गुबार ने शहर को परेशान कर दिया| धूल का ऐसा गुबार उठा कि घरों में लोगों का रहना मुश्किल हो गया| इसके अलावा भी प्रदेश के कई इलाकों में बारिश हुई है| 

ओडिशा में मचाई तबाही 

सबसे खतरनाक तूफान माना जा रहा फैनी शुक्रवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे ओडिशा के पुरी तट से टकराया। इससे कई मकानों काे नुकसान पहुंचा है। हजारों पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए। निचली बस्तियों में पानी भर गया। जिस वक्त तूफान पुरी तट से टकराया, हवा की रफ्तार 175 किमी/घंटे थी। इसके यहां पहुंचते ही हवा की रफ्तार 240 किमी प्रतिघंटे से ज्यादा हो गई है और भीषण बारिश हुई है। तूफान की तबाही का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सड़कों पर कुछ भी नजर नहीं आ रहा था। अब तक इस तूफान की वजह से 5 लोगों के मारे जाने की सूचना है। वहीं तेज तूफ़ान में कई जगह पेड़ गिरे, बिजली के खम्बे गिरे, कई जगह सड़कों पर खड़ी कार, बस हवा में उड़ गई तो कई जगह इमारतें भी ढह गई| 

मौसम विभाग ने जारी किया 48 घंटे का अलर्ट 

मौसम विशेषज्ञों ने पहले ही आशंका जताई थी कि 48 घंटों में होशंगाबाद, बैतूल, छिंदवाड़ा, रायसेन, नरसिंहपुर, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, दमोह, सतना, रीवा, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया, कटनी, जबलपुर, सिवनी, मंडला और बालाघाट में आंधी, बारिश और ओले की संभावना है।

फैनी तूफ़ान ने देशभर में मचाई तबाही, कई स्थानों पर खंबे-पेड़ गिरे, हवा में उड़ी कारे-बस, 5 की मौत