दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा- ‘दिल्ली के मुकाबले मध्यप्रदेश महाराष्ट्र को अधिक ऑक्सीजन क्यों’

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। दिल्ली हाईकोर्ट में आज फिर ऑक्सीजन को लेकर सुनवाई हुई। इस दौरान दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार पर पूरी ऑक्सीजन न देने का आरोप लगाया। इस दौरान हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा कि ‘महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश को अधिक ऑक्सीजन क्यों मिल रही है, वहीं दिल्ली ने जितनी मांग रखी है उससे कम ऑक्सीजन दी जा रही है।’

उत्तर प्रदेश से बस परिवहन सेवा बंद, अब 7 मई तक नहीं होगी बसों की आवाजाही

सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार ने केंद्र को घेरते हुए ऑक्सीजन सप्लाई न करने का आरोप लगाया। दिल्ली सरकार ने कहा कि हमने 700 MT ऑक्सीजन मांगी थी, लेकिन 490 MT ऑक्सीजन भी सिर्फ पेपरों पर ही मिल रही है। दिल्ली सरकार की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता राहुल मेहरा ने कहा कि केंद्र सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति में बाधा डाल रही है। दिल्ली सरकार ने कहा कि अगले हफ्ते तक हम 15 हजार बेड बनाने जा रहे हैं और इसके लिए हमें 280 MT ऑक्सीजन की जरूरत होगी। 5 मई तक 500 आईसीयू बेड और होंगे। दिल्ली के कुल आईसीयू बेड के अनुसार हमें 976 MT ऑक्सीजन की जरूरत होगी। दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट से अपील की कि उसे केंद्र से 1000 MT ऑक्सीजन दिलाई जाए।