भोपाल गैस त्रासदी की 35वीं बरसी पर दिग्विजय ने CM कमलनाथ से की ये मांग

भोपाल।

 भोपाल गैस त्रासदी के आज 35 साल पूरे हो गए हैं, लेकिन इतने साल बीतने के बाद भी पीड़ितों को इंसाफ नही मिला है, इलाज का अभाव है। आज भी लोग उस काली रात के मंजर को याद कर कांप जाते हैं।लोगों को आज भी न्याय का इंतजार है।इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पीड़ितों को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ से मांग की है कि प्रभावित परिवारों की स्मृति में मेमोरियलल बनायें और पीड़ितों के इलाज के लिए अस्पताल को एक इस्टीट्यूट बनाने के लिए केन्द्र से मांग करे।बता दे कि यह पहला मौका नही है जब दिग्विजय ने ट्वीटर के माध्यम से मुख्यमंत्री कमलनाथ से मांग की हो, इसके पहले भी वे कई बार सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी बात रख कई मांग कर चुके है।

दरअसल, दिग्विजय सिंह ने ट्वीटर के माध्यम से इस त्रासदी में जान गँवाने वाले सभी नागरिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की है। दिग्विजय ने लिखा है कि ३ दिसम्बर १९८४ को भोपाल गैस त्रासदी में हज़ारों लोग नहीं रहे थे। उन्हें हम हार्दिक श्रद्धांजली देते हैं। गैस त्रासदी पीड़ित परिवारों के लिये जिसने जीवन भर निस्वार्थ भावना से लड़ाई लड़ी सेवा की, जब्बार भाई भी अब हमारे बीच में नहीं है। हम उन्हें भी श्रद्धांजली देते हैं।

वही दूसरे ट्वीट मे दिग्विजय ने मांग करते हुए लिखा है कि मुमं कमल नाथ जी से दो निवेदन हैं

१- यूनियन कार्बाईड की फेक्टरी स्थल को साफ़ कर त्रासदी से प्रभावित परिवारों की स्मृति में Memorial बनायें

२- गैस त्रासदी से प्रभावित परिवारों के इलाज के लिए अस्पताल को Super Specialty PG Institute बनाने के लिए  केंद्र सरकार से अनुरोध करें।

कमलनाथ-शिवराज-सिंधिया ने भी दी श्रद्धांजलि

 मुख्यमंत्री  कमल नाथ ने भोपाल गैस त्रासदी के शिकार निर्दोष नागरिकों को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने लोगों से पर्यावरण प्रदूषण के प्रति हमेशा सतर्क, सजग रहने का आह्वान किया है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने अपने ट्वीटर पर लिखा है कि भोपाल_गैस_त्रासदी की 35 वीं बरसी पर मैं इस हादसे में जान गँवाने वाले सभी नागरिकों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ। हज़ारों सामाजिक कार्यकर्ताओं को भी प्रणाम करता हूँ जिन्होंने पीड़ितों के अधिकारों हेतु जीवनपर्यंत लड़ाई लड़ी और उन्हें न्याय दिलाया।वही सिंधिया ने लिखा है कि भोपाल गैस त्रासदी में दिवंगत हुए पीड़ितो के प्रति आत्मीय संवेदनाएं |

प्रदेश सरकार पीड़ितो की हरसंभव मदद के लिए कृत संकल्पित है |आइये, राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस पर देश समाज को स्वस्थ और स्वच्छ रखने हेतु व्यक्तिगत स्तर से प्रदूषण को नियंत्रण करने में अपना पूर्ण सहयोग करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here