हार के बाद दिग्विजय बोले- ‘गांधी के हत्यारों की विचारधारा जीत गयी’

digvijay-sing-press-confrence-live-in-bhopal

भोपाल|  मध्य प्रदेश की सबसे कठिन सीट पर चुनाव में हारे दिग्विजय सिंह ने सभी जीते हुए प्रत्याशियों को जीत की बधाई दी| उन्होंने कहा मुझे निजी तौर पर चिंता सता रही हैं कि गांधी के हत्यारे की विचारधारा जीत गई और शांति दूत हार गया। भोपाल की जनता से किये हर वादे को पूरा करूँगा। 2014 के चुनाव में 280 का नारा दिया था इस बार 300 पर का नारा दिया, इनके पास कौन सी जादू की छड़ी है। दिग्विजय ने कहा मैं जीत नही पाया लेकिन जो भी वादे किये पूरा करने का प्रयास करूंगा| दिग्विजय भोपाल में पत्रकारों से चर्चा कर रहे हैं| 

चुनाव में क्या चूक हुई इस सवाल पर दिग्विजय ने कहा मुझसे कोई चूक नही हुई, रिजल्ट सबके सामने है, ईवीएम पर कोई टिप्पणी नही करूँगा| दिग्विजय ने कहा कांग्रेस का एक मूल मंत्र हैं सत्य अहिंसा। गांधी के हत्यारे की विचारधारा की जीत हुई। कांग्रेस को और ज्यादा काम करने की आवश्यकता है|  उन्होंने कहा मोदी सरकार का आतंकवाद को हटाने को लेकर कोई अच्छा ट्रेक रिकॉर्ड नहीं है। राहुल गांधी के इस्तीफे देने को लेकर उन्होंने कहा कि यह निर्णय हमारी पार्टी करेगी। चुनाव प्रचार के दौरान मेरे द्वारा कहां चूक हो गई इसको लेकर हम समीक्षा करेंगे। 2014 मे जो वादे किए थे उसको लेकर कोई चर्चा नहीं की गई। 2019 के चुनाव में भी ऐसा कोई मुद्दा नहीं था। भाजपा ने विकास के नाम पर कोई वोट नहीं मांगा है भाजपा हमारी पार्टी के विधायकों को लालच दे रही है हमें हमारे बहुमत पर भरोसा है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से भाजपा प्रत्याशियों ने 28 सीटों पर जीत दर्ज की है। भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह और गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया हार गए। कांग्रेस के खाते में केवल छिंदवाड़ा सीट गई है। दिग्विजय को साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने तीन लाख से अधिक वोटों से हराया है| हार को स्वीकारते हुए दिग्विजय सिंह ने सभी प्रत्याशियों को बधाई दी है और चुनाव परिणाम पर प्रेस से मुखातिब होते हुए अपने विचार रखे|