Ayodhya Verdict: दिग्विजय की केंद्र को सलाह- ‘ऐसे हो राम मंदिर निर्माण’

भोपाल। 

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद देशभर से प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है। हर कोई कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले का स्वागत कर रहा है।इस क्रम में कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अयोध्या मंदिर-मस्जिद विवाद का फैसला आने के बाद कह- हम सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हैं। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार को राम मंदिर निमार्ण के लिए सलाह भी दी है

दिग्विजय ने कहा है कि  30 साल पुराना विवाद जो पहले राजनीतिक  नहीं था, उसे राजनीतिक बनाया गया, अब उसका पटाक्षेप हो गया है। सिंह ने केंद्र सरकार को सलाह देते हुए कहा कि मंदिर निर्माण से राजनीतिक दलों के लोगों को दूर रखें। उन्होंने कहा कि सरकार, मंदिर के निर्माण में पांचों पीठों के शंकराचार्यों को शामिल करें। राम मंदिर निर्माण के नाम पर जमा हुई धनराशि को सरकारी खजाने में जमाकर उससे ही मंदिर का निर्माण कार्य कराया जाए।

गौरतलब है कि  सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को सदियों पुराने मामले में अपना ऐतिहासिक फैसला देते हुए कहा है कि राम जन्मभूमि में भगवान राम का भव्य मंदिर बनाया जाए। कोर्ट ने कहा है कि ट्रस्ट बनाकर मंदिर का निर्माण करवाया जाएगा।केंद्र सरकार को तीन महीने के भीतर मंदिर निर्माण के लिए नियम बनाने को कहा गया है। वहीं, कोर्ट ने मुस्लिम पक्षकार को अन्य जगह पर 5 एकड़ जमीन देने और निर्मोही अखाड़ा की याचिका को खारिज करते हुए राम लला की सेवा का अधिकार देने से इंकार कर दिया है।