दिग्विजय समर्थक नेता बृजमोहन सिंह परिहार का निधन, कोरोना संकृमित हुए थे

ग्वालियर, अतुल सक्सेना

कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में भर्ती दिग्विजय सिंह समर्थक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता , प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष ब्रजमोहन सिंह परिहार का आज तड़के निधन हो गया। पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद पिछले दिनों उन्हें ग्वालियर के सिम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया था जहां ज्यादा तबियत बिगड़ने के चलते उन्हें गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था जहां आज सुबह 5 बजे 72 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। श्री परिहार के निधन से कांग्रेस में शोक की लहर छा गई हैं। खास बात ये है कि मृत्यु से कुछ देर पहले ही उनकी कोरोना की नई रिपोर्ट आई थी जो नेगेटिव थी। उनका अंतिम संस्कार आज शाम ग्वालियर में किया जायेगा।

महात्मा गांधी के जन्मदिन 2 अक्टूबर को सन 1948 में जन्मे ब्राजमोहन सिंह परिहार युवावस्था में ही कांग्रेस से जुड़ गए। । छात्र जीवन से ही वे सक्रिय राजनीति में आये। पहले वे एनएसयूआई में फिर युवक कांग्रेस में होते हुए कांग्रेस में पहुंचे और इस दौरान अनेक पदों पर रहे । वे ग्वालियर नगर निगम में पार्षद भी निर्वाचित हुए और मेयर इन काउंसिल के सदस्य भी रहे, श्री परिहार कांग्रेस पार्षद दल के नेता भी रहे । नगर निगम विधान के वे काफी जानकार माने जाते थे और उनकी गिनती दिग्विजय सिंह के करीबियों में होती थी । वे काफी समय से मध्यभारत खादी संघ के सचिव के रूप में भी कार्यरत थे। स्व परिहार की पत्नी श्रीमती रश्मि परिहार भी कांग्रेस की प्रमुख नेत्री है । वे कांग्रेस और महिला कांग्रेस में अनेक महत्वपूर्ण पदों पर रह चुकीं है और एक बार कांग्रेस ने विधानसभा चुनावों में उन्हें प्रत्याशी भी बनाया था लेकिन वे मामूली अंतर से चुनाव हार गईं थीं । उनके परिवार में एक पुत्र और दो पुत्रियां हैं।

कोरोना का हुए थे शिकार

स्व. श्री परिहार कुछ दिन पूर्व कोरोना के शिकार हो गए थे। उन्हें ग्वालियर के सिम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन हालत बिगड़ने पर उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया और वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया लेकिन उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ । इस बीच उनका बीपी बढ़ गया और ब्रेन हेम्ब्रेज हो गया था । पिछले दिनों उनकी हालत बिगड़ी और सोशल मीडिया पर उनके निधन की खबरें चलीं लेकिन बाद में मामूली सुधार हो जाने पर थोड़ी आस जगी थी लेकिन आज तड़के लगभग साढ़े चार बजे हृदयगति रुक जाने से उनका दुखद निधन हो गया। खास बात ये है कि मृत्यु से कुछ समय पहले उनकी कोरोना की नई रिपोर्ट आई थी जो नेगेटिव थी।

कांग्रेस में शोक की लहर

स्व. परिहार के निधन की खबर से कांग्रेस में शोक व्याप्त है । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ,पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह,प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अशोक सिंह सहित अनेक नेताओं ने स्व परिहार के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए कहाकि वे सच्चे और निष्ठावान कांग्रेसी थे । उन्होंने सपरिवार जीवनपर्यंत कांग्रेस की सेवा की । कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता एवं ग्वालियर-चम्बल संभाग के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने ब्रजमोहन सिंह परिहार के निधन पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि “ग्वालियर चंबल संभाग के कद्दावर नेता,जिंदगी भर सामंतवाद के खिलाफ संघर्ष करने वाले,प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष श्री ब्रजमोहनसिंह परिहार आज बीमारी से परास्त हो गए।अलसुबह उन्होंने हम सभी का साथ छोड़ दिया…ईश्वर इस गांधीवादी, सिद्धांतवादी,चापलूसी के ख़िलाफ़ जीवनपर्यंत लड़ने वाले नेता को अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें।

आज शाम होगा अंतिम संस्कार

ब्रजमोहन सिंह परिहार के सबसे करीबी मित्र ,वरिष्ठ नेता, जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष, मध्य भारत खादी संघ के अध्यक्ष वासुदेव शर्मा ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि आज मेरे लिए बहुत कष्ट का दिन है मैं और ब्रजमोहन जी 1967 से साथ थे और आज मेरा सबसे अच्छा दोस्त छोड़ कर चला गया। उन्होंने बताया कि श्री परिहार का पार्थिव शरीर लेकर परिजन ग्वालियर के लिए निकल गए हैं। शाम को हरिशंकर पुरम के पीछे मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया जायेगा। इस दौरान कोरोना की गाइड लाइन का पूरा ध्यान रखा जायेगा।