दिग्विजय के विधायक भाई ने फिर अपनी ही सरकार को घेरा

Digvijay's-mla-brother-laxman-singh-again-tareget-his-own-government

गुना। विजय जोगी |अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह ने एक बार फिर अपनी ही सरकार पर निशाना साधा है| उन्होंने तबादला उद्योग को लेकर विपक्ष के आरोपों पर सरकार द्वारा किए जा रहे अफसरों के थोकबंद तबादलों को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि तबादले एक प्रक्रिया के तहत हों तो ठीक है, लेकिन ज्यादा तबादलों को उचित नहीं ठहराया जा सकता। कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने ये भी कहा कि अभी भी बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार फैला हुआ है, जिस पर नियंत्रण करना सरकार की जिम्मेदारी है।

कांग्रेस विधायक राघोगढ़ में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे| इस दौरान उन्होंने कांग्रेस की हार पर कहा कि राजनीति सूरज की तरह है, जो डूबती है ऊगती है, हार जीत तो लगी रहती है| लेकिन जिस तरह के मार्जिन से हमारे प्रत्याशी हारे इससे साफ़ है कि कही कमी रही, लोकसभा चुनाव में हमारा प्रचार का तरीका सही नहीं था| देश सुरक्षा, राष्ट्रवाद के मुद्दे को बीजेपी ने भुनाया और वो सफल हुए| वहीं विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा कि कोई भी उम्मीदवार अपनी गलती से हारता है और गुना सीट से कांग्रेस उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया भी अपनी गलती से चुनाव हारे हैं। मुख्यमंत्री बदले जाने के सवाल पर लक्ष्मण सिंह ने कहा कि इस बात को सभी अच्छी तरह से समझ लें कि प्रदेश में मुख्यमंत्री नहीं बदला जाएगा।

कंप्यूटर बाबा से रहता हूँ दूर

कम्प्यूटर बाबा द्वारा राज्य सरकार से हेलीकॉप्टर की मांग को विधायक लक्ष्मण सिंह ने हास्यस्पद बताया है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि वे कम्प्यूटर बाबा से दूर ही रहते हैं, वो बहुत ग्यानी हैं, मैं उन्हें दूर से ही नमस्कार करता हूँ| लेकिन राज्य सरकार पर बढ़ते कर्ज के मद्देनजर उनकी इस मांग को एक मजाक से ज्यादा कुछ नहीं समझना समझना चाहिए| वहीं कांग्रेस विधायक ने लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस मामले में ईवीएम को दोष देना बेकार है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की प्रचार नीति बीजेपी के मुकाबले बेहद कमजोर थीं। बकौल लक्ष्मण सिंह बीजेपी ने सर्जिकल स्ट्राइक का पूरी तरह फायदा उठाया, जबकि कांग्रेस के प्रचार का तरीका लोगों को टच नहीं कर सका।