Digvijay's-says--'Tiger-Nails-and-Teeth-Has-Fallen-Now'

इंदौर।  मध्य प्रदेश के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है| शिवराज सिंह चौहान के ‘टाइगर अभी ज़िंदा है’ बयान पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने तंज कसा है| दिग्विजय ने कहा है कि टाइगर के नाखून और दांत अब गिर चुके हैं, हम टाइगर का संरक्षण जरूर करेंगे | सिंह ने प्रदेश की पिछली शिवराज सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा प्रशासन के बीच इतने दलाल इन्होंने तैयार कर दिए हैं। कभी एसपी, कलेक्टर के तबादले के लिए पैसा धेला नहीं चलता था। उन्हें माध्यम से रुपए नहीं वसूले जाते थे। उनको भीड़ एकत्रित करने के लिए सरकारी तंत्र का उपयोग नहीं किया जाता था। लेकिन इस सरकार ने ऐसा किया। इसलिए प्रशासन तंत्र को सुधारने की आवश्यकता है।  दिग्विजय इंदौर में मीडिया से चर्चा कर रहे थे| बता दें कि सीएम हाउस छोड़ने से पहले शिवराज ने कहा था कि किसी को चिंता करने की जरुरत नहीं है, कि हमारा क्या होगा, टाइगर अभी ज़िंदा है| उनके इस बयान के बाद उनके समर्थक इस बयान के समर्थन में उनके सामने नारेबाजी कर रहे हैं वहीं कांग्रेस इस पर तंज कस रही है| 

देश में भगवान हनुमान की जाति को लेकर हो रही बयानबाजी पर भी दिग्वजिय ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है और भाजपा नेताओं पर जमकर बरसे|  उन्होंने मीडियो से बातचीत में कहा कि हनुमानजी हमारे आराध्य देव हैं, उन पर टिप्पणी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होना चाहिए।  सिंह ने कहा कि ऐसी टिप्पणी करने वाले नेताओं पर अखाड़ा परिषद, विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस को कार्रवाई करना चाहिए।  

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा के बुक्कल नवाब साहब आए, उन्होंने कहा- ये तो मुसलमान थे, रहमान, फरहान और अब एक भाजपा के चौधरी साहब आए, उन्होंने कहा ये जाट थे। ये हनुमानजी को भी तुम जात-पात में डाल रहे हो, ये कैसे धर्म का तुम पालन कर रहे हो। उन्होंने कहा ये कौन सा धर्म है, मुझे घोर आपत्ति है। दिग्विजय ने कहा कि हनुमानजी हमारे आराध्य देव हैं, उन पर टिप्पणी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होना चाहिए।  भाजपा, अखाड़ा परिषद, विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस को इनका तिरस्कार करना चाहिए, इनसे कोई संबंध नहीं रखना चाहिए, जो बजरंगबली को इस प्रकार से हीन भावना के साथ पद व्यक्त किया है।