डॉक्टरों ने लिखा पत्र- “पत्नी से लड़कर आते हैं IAS, इलाज कराएं “

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में सरकारी डॉक्टरों (Doctors) और प्रशासनिक अधिकारियों के बीच तनातनी की खबरें आम हैं। लेकिन एक ऐसी खबर सामने आई है जिसमें सभी को हैरत में डाल दिया है। सागर के डॉक्टरों ने एक पत्र लिख मंत्रालय में पदस्थ एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी का मनोवैज्ञानिक इलाज कराने के लिए अनुरोध किया है। उनका कहना है कि आईएएस (IAS) उनको धमकी दे रहे हैं।

CG : सीएम के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन सागर के अध्यक्ष डॉ सर्वेश जैन और डॉ शैलेंद्र पटेल ने प्रोग्रेसिव मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन मध्य प्रदेश को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में लिखा गया है कि देखा गया है कि वल्लभ भवन व सतपुड़ा के अफसर पत्नियों से लड़ कर आते हैं और उन्हें कब्ज रहती है जिसकी वजह से पूरे दिन अतार्किक निर्णय लेते हैं। ऐसा ही एक निर्णय तत्कालीन एडिशनल चीफ सेक्रेटरी द्वारा लिया गया था जिसमें चिकित्सा शिक्षा विभाग को सातवां वेतनमान 2018 से दिया गया था जबकि मध्यप्रदेश शासन के अन्य विभागों को जनवरी 2016 से दिया गया है। यह जानकारी मिलने पर चिकित्सा शिक्षक जब मिलने गए तो पूर्ववर्ती एसीएस ने कहा ‘डॉक्टर साहब सस्पेंड नहीं करूंगा, सीधा मेडिकल रजिस्ट्रेशन कैंसिल करूंगा। प्रैक्टिस करने लायक नहीं छोडूंगा।’

डॉक्टर शैलेंद्र पटेल और सर्वेश जैन ने लिखा है कि शासन से निवेदन किया जाए कि ऐसे अफसरों की मनोवैज्ञानिक काउंसलिंग करवाएं और जब तक व्यवस्था नहीं होती तब तक समस्त चिकित्सक शिक्षक उनके ईमेल एवं व्हाट्सएप पर मोटिवेशन वीडियो एवं ऑफिस के एड्रेस पर syp cremaffin plus भेजें। दवा ना मिलने की स्थिति में उसके विकल्प भी लिखे गए हैं।

डॉक्टरों ने लिखा पत्र- "पत्नी से लड़कर आते हैं IAS, इलाज कराएं "