पूर्व सीएम शिवराज के चुनाव प्रचार पर लग सकता है बैन

election-commission-can-be-banned-on-Former-CM-Shivraj-for-campaigning-

भोपाल| चुनावी सभा में मंच से कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी को खुलेआम धमकी देना पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भारी पड़ सकता है|  छिंदवाड़ा के चौरई में एक सभा को सम्बोधित करते हुए शिवराज ने मंच से छिंदवाड़ा कलेक्टर को सीएम कमलनाथ का पिट्ठू बताते हुए कहा था कि ‘ए पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे भी दिन आएंगे। तब तेरा क्या होगा।”| पूर्व सीएम के इस बयान से उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है, उन पर चुनाव में प्रचार करने पर बैन भी लग सकता है| 

दरअसल, शिवराज बुधवार को हेलिकॉप्टर से चौरई पहुंचे थे। उसके बाद उन्हें उमरेठ जाना था, लेकिन कलेक्टर ने हेलिकॉप्टर को छिंदवाड़ा भिजवा दिया। सभा में इसकी जानकारी लगते ही शिवराज नाराज हो गए और उन्होंने मंच से ही जिला प्रशासन पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए छिंदवाड़ा कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा को मुख्यमंत्री का पिट्ठू बताते हुए कह दिया कि ‘ए पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे भी दिन आएंगे। तब तेरा क्या होगा’। शिवराज के इस धमकी भरे बयान से प्रदेश की सियासत गरमा गई है| एक तरफ भाजपा ने जहां कलेक्टर के खिलाफ चुनाव में शिकायत की है, वहीं कांग्रेस भी शिवराज के इस बयान के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत करने वाली है| शिवराज का यह बयान कलेक्टर पर सीधा आरोप है, जो कि इस समय चुनाव आयोग का हिस्सा है, जिन पर बिना किसी विवाद के शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने का जिम्मा है| इसलिए शिवराज के इस बयान पर आयोग एक्शन ले सकता है, वहीं बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में शिवराज सभा करने गए थे, वे पार्टी के स्टार प्रचारक है, जिसके चलते प्रत्याशी के चुनाव लड़ने पर भी संकट आ सकता है| प्रशासनिक गलियारों में शिवराज के इस बयान की जबरदस्त चर्चा है और प्रशासनिक अफसरों में इसको लेकर नाराजगी है| 

कांग्रेस करेगी बैन की मांग 

कांग्रेस का कहना है कि शिवराज सिंह चौहान लगातार आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं| पार्टी इससे पहले भी उनके खिलाफ आयोग में शिकायत कर चुकी है| कांग्रेस इस बार बुधवार को छिंदवाड़ा कलेक्टर को धमकी देने की शिकायत चुनाव आयोग से करेगी| कांग्रेस ने कहा शिवराज सिंह चौहान लगातार आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं. कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से दोपहर 1.30 बजे मिलेगा| आयोग से मांग की जाएगी कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मायावती और आज़म खान की तरह शिवराज के प्रचार करने पर भी बैन लगाया जाए| कांग्रेस अभी तक शिवराज सिंह चौहान की पांच शिकायतें चुनाव आयोग से कर चुकी है|

भाजपा और कांग्रेस दोनों को आपत्ति, कलेक्टर ने बताये नियम 

बुधवार को हुए इस घटनाक्रम के बाद बीजेपी और कांग्रेस में तकरार बढ़ गई है, दोनों ही पार्टियां चुनाव आयोग पहुँच रही हैं| भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने शिवराज का पक्ष लिया और कहा कि गुरुवार को कलेक्टर की चुनाव आयोग में शिकायत करेंगे। वहीं, कांग्रेस ने भी कहा है कि वह गुरुवार सुबह चुनाव आयोग से शिवराज की शिकायत करेगी। इधर, कलेक्टर शर्मा ने साफ कर दिया कि शिवराज शाम 6 बजे उमरेठ में हेलिकॉप्टर उतारना चाहते थे, जो नागरिक उड्डयन मंत्रालय के मापदंडों और मप्र सरकार के सर्कुलर के खिलाफ था। कलेक्टर का कहना है कि चौरई में शिवराज का हेलिकॉप्टर शाम 5 बजे से पहले उतर गया था। वे उमरेठ हेलिकॉप्टर से ही जाना चाहते थे। जिस एयरपोर्ट पर नाइट लैंडिंग की सुविधा नहीं होती, वहां शाम 5 बजे के बाद हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं देते। भाजपा को पहले ही सर्कुलर की काॅपी दे दी गई है। उनका कहना है कि भेदभाव के आरोप निराधार हैं। नागरिक उड्डयन विभाग के निर्देशानुसार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक ही हेलिकॉप्टर उड़ाने की अनुमति है। इस निर्देश का पालन सभी को करना है।