कर्मचारियों-आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिलेगी गुड न्यूज! मानदेय-वेतन में वृद्धि संभव,अप्रैल में महासम्मेलन, प्रमोशन-एरियर पर अपडेट

employees news

MP Anganwadi Workers Honorarium-salary hike : मध्य प्रदेश की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं,मिनी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए महत्वपूर्ण खबर है। अगले महीने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिकाओं और मिनी कार्यकर्ताओं का भोपाल में महासम्मेलन होने वाला है, इसमें CM शिवराज सिंह चौहान शामिल होंगे।संभावना है कि इस महासम्मेलन में इन कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि की जा सकती है, वही प्रमोशन और नियमितकरण पर भी फैसला लिया जा सकता है।

अप्रैल में महासम्मेलन

दरअसल, हाल ही में भारतीय मजदूर संघ के नेतृत्व में विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की थी, जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका संघ ने  मानदेय में वृद्धि, एरियर्स और रिटायरमेंट की राशि, सुपरवाइजर के पद पर अनुभव और योग्यता के आधार पर पदोन्नति की नीति आदि अपनी लंबित मांगों को लेकर सीएम शिवराज चर्चा की थी। इसमें कई सकारात्मक बातें हुईं। सीएम ने भी मांगों पर सहमति जताई है। इसके लिए अप्रैल में महासम्मेलन आयोजित किए जाने की बात भी कही है। इसके अलावा लाड़ली बहना योजना में भी  सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, मिनी कार्यकर्ता और आशा कार्यकर्ताएं भी शामिल कर  लाभ दिए जाने की बात कही गई हैं। संभावना है कि 15 से 20 अप्रैल के बीच यह सम्मेलन हो सकता है और इसमें कई मांगों पर सहमति बन सकती है।

मानदेय-एरियर पर वृद्धि संभव

संगठन की मांग है कि मानदेय वृद्धि के साथ एरियर भी मिलना चाहिए और प्रमोशन पर भी फैसला लिया जाए। इसके अलावा महिला कर्मचारियों को रिटायरमेंट के समय एकमुश्त राशि देने का प्रावधान किया जाए। अनुभव के आधार सुपरवाइजर के पद पर प्रमोशन का प्रावधान किया जाए, हालांकि इस बैठक में मुख्यमंत्री के अधिकारियों द्वारा कर्मचारी नेताओं को स्पष्ट कर दिया गया था कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के नियमितीकरण की बात नहीं की जाएगी, लेकिन यह तय हुआ है कि आशा कार्यकर्ताओं को भी समान रूप से लाभ दिए जाएंगे। यह सम्मेलन 15 से 20 अप्रैल के बीच में आयोजित किए जाने का प्रस्ताव रखा गया है।


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News