संसद सत्र समाप्त होने के बाद अब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की होगी घोषणा!

भोपाल। लोकसभा और राज्य सभा का शीतकालीन सत्र हंगामे के बीच शुक्रवार को समाप्त हो गया। सत्र के समाप्त होने के साथ ही अब मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान होना है। अभी तक पार्टी के सभी सांसद और हाईकमान नेता संसद सत्र में व्यस्त थे। अध्यक्ष के निर्वाचन से पहले पार्टी महासचिव राममाधव और प्रवक्ता विजय सोनकर शास्त्री ने भोपाल प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर रायशुमारी कर ली है। उन्होंने प्रदेश के कोर ग्रुप के नेताओं से बातचीत की है। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए अगले नाम पर चर्चा की जा चुकी है। दिल्ली में ही पार्टी नेताओं से रायशुमारी की गई है। बताया जा रहा है राममाधव जल्द ही पार्टी को एक रिपोर्ट भेजेंगे। जिसमें रायशुमारी में तय नामों का जिक्र होगा। अभी तक संसद सत्र के कारण यह लिस्ट अटकी हुई थी। मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों का हवाला देते हुए कहा गया है कि अध्यक्ष पद के लिए संघ में एकराय नहीं बन पा रही है। दावेदारों को लेकर असमंजस बना हुआ है। सूत्रों का कहना है कि संसद सत्र खत्म होने के बाद अब राममाधव हाईकमान से बातचीत करेंगे। दूसरी खास बात यह है कि अब तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता भी नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर रणनीति तय नहीं कर पा रहे हैं। संघ की सिफारिश के बाद ही प्रदेश अध्यक्ष के निर्वाचन की तारीख तय होगी। हालांकि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ लंबे वक्त से सामंजस्य स्थापित कर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के लिए नेता चुनने का प्रयास कर रहा है