कमलनाथ का दावा, सरकार बनेगी, दिग्विजय भगवान भरोसे

ex-cm-of-mp-Digvijay-Singh-trust-on-god-for-the-victory-of-Congress

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके है। प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद है। प्रदेश में किसकी सरकार होगी इसका फैसला 11 दिसम्बर को आएगा। लेकिन सियासी गलियारों में हलचल अब भी मची हुई है। हर कोई अपनी जीत का दावा कर रहा है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दावा किया है कि अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी वही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भगवान भरोसे हैं|  सोशल मीडिया पर हमेशा एक्टिव रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने जनता को कांग्रेस की एजेंडे की तुलना भाजपा से कर कांग्रेस को आगे बताया है। हालांकि उन्होंने जीत का दावा नही किया है और सब कुछ भगवान पर छोड़ दिया है।

दरसल, दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीटर के माध्यम से सभी कार्यकर्ताओं के प्रति आभार व्यक्त किया है। दिग्विजय ने लिखा है कि कल के मतदान में कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं और समर्थकों के प्रति उनकी मेहनत और समर्थन के लिये आभार। ईश्वर ने चाहा तो सरकार बनेगी। नर्मदे हर। बता दें कि राजनीतिक दलों द्वारा अपनी अपनी जीती का दवा किया जा रहा है लेकिन प्रदेश में हुए रिकॉर्ड मतदान ने समीकरण बदल दिए हैं | इसके कई मायने निकाले जा रहे हैं| हर पार्टी इसे खुद के लिए फायदेमंद बता रही है| अब देखना होगा ज्यादा वोटिंग का फैक्टर किसके लिए अच्छा और किसके लिए घातक साबित होगा| फिलहाल परिणाम का इन्तजार है और अब नेतागण भी फुर्सत के पल बिता रहे हैं, लेकिन चिंता अभी भी मन में है| 

दिग्विजय ने ट्वीट कर बताया कि सरकार बनने के बाद कांग्रेस का क्या एजेंडा रहेगा । एजेंडे में दिग्विजय ने युवाओं के रोजगार, उच्च शिक्षा, स्वास्थ्य व्यवस्था औऱ कृषि समेत कई दावे किए है।वही उन्होंने भाजपा का भी एजेंडा बताया है और जमकर हमला बोला है।


कॉंग्रेस का एजेण्डा

– युवकों और साधनहीन परिवारों को रोज़गार 

– उच्च स्तर की शिक्षा 

– उच्च स्तर की स्वास्थ व्यवस्था 

– महिलाओं का सम्मान

– कृषि उपज का लागत के आधार पर उचित मूल्य 

– उच्च स्तर का इन्फास्ट्रक्चर 

– भारतीयों में एकता और देश की अखंडता


भाजपा का एजेण्डा 

– राम मंदिर का विवाद चलता रहे

– हज़ारों करोड़ की मूर्तियॉं बनवाओ

– हनुमान जी को भी जाति वर्ग में सीमित करो

– विज्ञान को पीछे करो और किंवदंतीयों को आगे

– हर चुनाव में जनता को जुमलों के आधार पर सपने दिखाते रहो