-Feedback-by-the-rss-regarding-the-speaker-and-deputy-speaker-election

भोपाल। विधानसभा में स्पीकर और डिप्टी स्पीकर की कुर्सी हाथ से जाने के बाद संघ ने भाजपा नेताओं से सफाई मांगी है। स्पीकर का चुनाव हारने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समिदा पहुंचकर स्थिति से अवगत कराया। वहीं डिप्टी स्पीकर के चुनाव में मात खाने के बाद पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने क्षेत्र प्रचारक दीपक विश्पुते से मिलकर सफाई दी। दरअसल दोनों चुनाव लडऩे से मप्र भाजपा की जमकर किरकिरी हुई है। अब जल्द ही संघ मंथन करने जा रहा है। 

भाजपा को विधानसभा चुनाव में हार के बाद विधानसभा में स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के चुनाव में भी कांगे्रस से पटकनी मिली है। भाजपा ने दोनों चुनाव अल्पमत में होते हुए भी लड़े, जिससे भाजपा में विद्रोह की स्थिति बन गई है। चूंकि चुनाव लडऩे का फैसला हाईकमान का था, इसलिए मप्र भाजपा ने इसका विरोध नहीं किया। पार्टी सूत्र बताते हैं कि स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के चुनाव में मप्र के नेताओं के ढुलमुल रवैए से पार्टी हाईकमान बेहद नाराज है। यही वजह है कि मप्र भाजपा को विधानसभा में हुए घटनाक्रम को लेकर सफाई देनी पड़ रही है। चंूकि डिप्टी स्पीकर का पद भी विपक्ष के हाथ से चला गया है, ऐसे में मप्र में विद्रोह की स्थिति बन रही है।