यूरिया संकट को लेकर पूर्व सीएम शिवराज का हल्लाबोल, सागर में दी गिरफ्तारी

भोपाल। मध्य प्रदेश में यूरिया संकट को लेकर विपक्ष लगातार कमलनाथ सरकार का घेराव कर रहा है। सागर जिले में किसानों की समस्याओं को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने प्रदर्शन किया और गिरफ्तारी भी दी। उनके साथ भारी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता के अलावा नरयावली विधायक प्रदीप लारिया भी मौजूद थे। वह अपने समर्थकों के साथ सागर के मकरोनिया थाने में गिरफ्तारी देने पहुंचे जहां पुलिस ने उन्हें बैरिकेट्स लगाकर रोकने की कोशिश की। 

पूर्व सीएम शिवराज ने इस दौरान सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार का किसानों की कर्जमाफी का वचन खोखला साबित हुआ। एक भी किसान का दो लाख रुपए का कर्ज माफ नहीं किया। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उल्टे कर्जमाफी के नाम पर किसानों को डिफॉल्टर बनाकर महापाप किया है। इससे सागर सहित प्रदेश के अन्य जिलों के किसानों को बोवनी के समय पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद नहीं मिल रही है। जनहित की योजनाओं को बंद कर प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की सवा सात करोड़ जनता के साथ अन्याय किया है।

यूरिया की कालाबाजारी का आरोप

शिवराज ने आरोप लगाया कि प्रदेश में यूरिया की कालाबाजारी हो रही है. उन्होंने कहा कि एक बोरी यूरिया 1700 रुपए में और डीएवीपी 1200 की बिक रही है. शिवराज ने आरोप लगाया कि प्रदेश में 250 की खाद 500 रुपयों में बिक रही है. उन्होंने प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों की आवाज दबने नहीं देंगे. शिवराज ने इस दौरान बिजली के बिलों की होली भी जलाई.