former-congress-mla-son-rahul-chouhan-join-bjp-in-bhopal

भोपाल। मध्य प्रदेश में जैसे जैसे मतदान का समय पास आ रहा है नेताओं के दल बदलना भी जारी है। इस बार कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। लोकसभा चुनाव से पहले बैतूल में कांग्रेस के आदिवासी कोरकू नेता और पूर्व विधायक स्व सतीश चौहान के पुत्र युथ कांग्रेस भैसदेही के अध्यक्ष राहुल चौहान ने गुरूवार को बीजेपी का दामन थाम लिया है। भोपाल में बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में उन्होंने पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान और सांसद प्रभात झा की उपस्थिति में सदस्यता ली। 

दरअसल, राहुल चौहान बैतूल के युवा कांग्रेस भैसदेही के अध्यक्ष थे। उन्होंने बीजेपी में शामिल होने क बाद कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि लगातार पार्टी के अंदर उनके समज की अनदेखी की जा रही थी। उन्होंने कहा कि कोरकू समाज बैतुल लोकसभा मतदार संघ में निर्णायक भूमिका निभाता आया है क्योंकि भैंसदेही, हरसूद, टिमरनी विधानसभा में कोरकू वोटर्स की संख्या लगभग 3.50 लाख की है | इससे निश्चित ही कांग्रेस को बड़ा नुकसान होगा।  भाजपा में उनका स्वागत पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रभात झा, बैतुल के पूर्व विद्यायक, पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल, भैसदेही के पूर्व विधायक, कोरकू नेता महेंद्र सिंह चौहान एवं भाजपा के वरिष्ठ नेताओ ने माला पहना कर किया। राहुल चौहान बैतूल क्षेत्र में बड़े आदिवासी चेहरा माने जाते हैं, उनके कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने से कांग्रेस के लिए एक बड़े झटके रूप में देखा जा रहा है| इससे पहले भी बैतूल जिले के दो बड़े नेता दल बदल चुके हैं| 

क्या है बैतूल लोकसभा सीट का गणित

बैतूल लोकसभा सीट बीजेपी का एक मजबूत किला है. इस सीट पर पिछले 8 चुनावों से सिर्फ और सिर्फ बीजेपी का ही कब्जा रहा है. बीजेपी के दिग्गज नेता विजय कुमार खंडेलवाल यहां से 4 बार जीतकर संसद पहुंच चुके हैं. उनके निधन के बाद उनके बेटे हेमंत खंडेलवाल ने यहां पर जीत दर्ज की. यह सीट 2009 में परिसीमन के बाद अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार के लिए आरक्षित हो गई. पिछले दो चुनावों से बीजेपी की ज्योति धुर्वे ही यहां से जीतती आ रही हैं। 2011 की जनगणना के मुताबिक बैतूल की जनसंख्या 2459626 है. यहां की 81.68 फीसदी आबादी ग्रामीण क्षेत्र और 18.32 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्र में रहती है।

यहां की 40.56 फीसदी आबादी अनुसूचित जनजाति के लोगों की है और 11.28 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति के लोगों की है.  चुनाव आयोग के आंकड़े के मुताबिक 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां पर 1607822 मतदाता थे. इनमें से 770987 महिला मतदाता और 836835 पुरुष मतदाता थे. 2014 के चुनाव में इस सीट पर 65.16 फीसदी मतदान हुआ था|