पूर्व मंत्री बोले- शुरू से BJP में गोपाल भार्गव को नज़र अंदाज़ किया जा रहा

भोपाल।

मुख्यमंत्री के कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्होंने चार मंत्रियों को प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि उनकी अनुपस्थिति में अब यह बैठक गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, नगरी विकास एवं प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी करेंगे। मैं स्वयं भी इलाज के दौरान प्रदेश में #COVID19 नियंत्रण के हरसंभव प्रयास करता रहूंगा। लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज के ट्वीट में प्रदेश के दिग्गज नेता गोपाल भार्गव (Senior Leader Gopal Bhargav) का नाम कहीं भी शामिल नहीं था।

गोपाल भार्गव को जिम्मेदारी नहीं सौंपने पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा की, शुरूनसे ही गोपाल भार्गव जी को बीजेपी में नज़रअंदाज़ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कैबिनेट में भी गोपाल भार्गव को पहले नहीं लिया गया। पीसी शर्मा ने कहा कैबिनेट में अगर गोपाल भार्गव को पहले मौका नहीं दिया गया तो जिन चार लोगों को मुख्यमंत्री ने अभी जिम्मेदारी दी है उसमें उनका नाम आना था। उन्होंने कहा यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

उपचुनाव को लेकर उन्होंने कहा प्रदेश में कांग्रेस फिर सरकार बनाएगी। कांग्रेस को कमल नाथ जी के नेतृत्व में जीत मिलेगी। वहीं उन्होंने कहा मध्यप्रदेश में जब कांग्रेस की सरकार बनी थी उस समय मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल थी। उन्होंने उस समय शपथ दिलाई थी, अब दोबारा उनकी मध्यप्रदेश में वापसी हुई है। अब मध्यप्रदेश में दोबारा कांग्रेस की सरकार बनेगी।