अब पुलिस थानों में गांधीगिरी

इंदौर। आकाश धौलपुरे।

पुलिस और गांधीजी, आम तौर पर आम आदमी के लिए यह सब कुछ सुनते ही लगता है कि कहां दो विपरीत ध्रुव  एक साथ, लेकिन अब गांधीजी पुलिस के लिए आइडियल बनने जा रहे हैं। यह सब कुछ संभव हो रहा है भारतीय पुलिस सेवा के एक अधिकारी महेश चंद्र जैन के द्वारा, जो वर्तमान में इंदौर पश्चिम के पुलिस अधीक्षक है ।

पर्यावरण के प्रति अपने प्रेम के लिए जाने जाने वाले महेश जैन झाबुआ में एसपी रहते हुए बंजर पहाड़ियों को लहलहाते वनों में तब्दील कर चुके हैं अब एक नया प्रयोग करने जा रहे हैं ।गांधीजी और उनके विचारों को हर थाने तक पहुंचाने के लिए वह पश्चिमी इंदौर के हर थाने में गांधी जी के विचारो वाली फ्रेम तस्वीर लगवाना जा रहे हैं। “किसी एक जरूरतमंद की मदद हजारों प्रार्थना से पवित्र है” गांधीजी के ऐसे स्लोगन जब थानों में दिखाई देंगे तो जैन का मानना है कि निश्चित रूप से कहीं न कहीं अधिकारियों- कर्मचारियों के मन में आम जनता के प्रति सद्भाव आएगा और वह उनकी मदद पहले से बेहतर कर पाएंगे।

थानों के साथ-साथ हर अधिकारी के कक्ष में भी यह संदेश लिखा जाएगा। जैन का मानना है कि जब कोई भी पीड़ित मददगार अधिकारी के पास पीड़ा लेकर आएगा तो अधिकारियों के विचारों की अगर यह सोच होती है तो वह निश्चित ही उनकी बेहतर मदद कर सकेगा। उम्मीद है कि पवित्र भाव से शुरू किया गया यह काम पुलिस की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाएगा और आम जनमानस के भीतर यह भाव, कि पुलिस उसकी मददगार है ,उत्पन्न कर सकेगा