इंदौर/आकाश धोलपुरे

सोमवार को इंदौर में जब एमआरटीबी अस्पताल से कोरोना संक्रमित राजेश असावरा नामक व्यक्ति की 2 जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद डिस्चार्ज की प्रोसेस हुई तो अस्पताल में कोरोना योद्धा डॉक्टर्स व नर्सेस ने ताली बजाकर विदाई दी। वहीं कोरोना के हॉट स्पॉट बन चुके इंदौर शहर में भी उम्मीद की एक नई किरण भी जाग गई है। इसी के साथ लोगों की खुशी उस वक्त दोगुनी जो गई जब ये पता चला कि आज कुल 11 कोरोना पीड़ित मरीजों के सैम्पल निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया है।

एमजीएम मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. ज्योति बिंदल ने बताया कि सोमवार को MRTB से 1 तो अरविंदो हॉस्पिटल से 10 लोगो को डिस्चार्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि डिस्चार्ज प्रोसेस में 24 घण्टे के भीतर दो निगेटिव रिपोर्ट आई है जिसमें चेस्ट एक्सरे क्लीयर होना जरूरी होता है। वहीं डिस्चार्ज किये गए व्यक्ति को 14 दिन तक होम क्वाण्टाइन किया जाता है और इस दौरान कोई तकलीफ होती है तो अस्पताल को सूचित करना जरूरी होता है।

एमआरटीबी अस्पताल के राजेश के साथ ही आज अरविंदो हॉस्पिटल से भी 10 मरीज़ स्वस्थ होकर घर लौटे है। डीन ज्योति बिंदल ने बताया कि मोहम्मद सलीम, इक़बाल कुरेशी, वाज़ीद कुरेशी, शब्बीर, करण सिसोदिया, प्रहलाद अग्रवाल , जितेंद्र सिसोदिया, अंजू सिसोदिया, आयशा और आलिया सहित कुल 11 लोगो की छुट्टी हो गई और अब कोरोना पॉजिटिव की संख्या में 11 लोग कम माने जाएंगे याने की अब इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या 124 हो गई है वही कोरोना से मरने वालों की संख्या 10 बताई जा रही है। जहां घर लौटने पर इकबाल कुरैशी ने अरविंदो में डॉक्टर्स के सकारात्मक रवैये और सुविधाओं के लिये आभार माना वही प्रहलाद अग्रवाल सहित सभी लोगो के अपने घर लौटने पर परिजनों ने खुशी जताई। आज 11 लोगो के डिस्चार्ज होने के बाद अब उम्मीद की जा रही है कि इंदौर में जल्द ही हालात सुधरेंगे।