गोराघाट थाना प्रभारी ने क्षेत्रीय लोगों के साथ मिलकर की शांति समिति की बैठक

सत्येन्द्र रावत//दतिया. मध्य प्रदेश का दतिया जिला सबसे छोटा जिला माना जाता है। अगर हम बात करें, पूरे दतिया जिले की तो यह मध्य प्रदेश का एक शांति का टापू कहलाता है। इसके साथ ही दतिया जिले का गोराघाट क्षेत्र एक सशक्त और समृद्ध क्षेत्र कहलाता है। जिसमें धान गन्ना गेहूं की अच्छी फसल अच्छी मात्रा में होती है। जिससे यहां का किसान भी खुशहाल जीवन व्यतीत करता है लेकिन फिर भी तीज त्योहारों पर अमन चैन शांति बनी रहे। इसके लिए गोराघाट थाना प्रभारी अजय चानना ने आगामी होली को लेकर क्षेत्रीय किसानों और गणमान्य नागरिकों के साथ थाना परिसर में एक शांति समिति की बैठक आयोजित की। जिसमें उन्होंने सभी उपस्थित लोगों से क्षेत्र में शांति कायम रहे और आपस में भाईचारा बना रहे। इस तरह से होली मनाने की लोगों से अपील की है। वहीं उन्होंने सभी उपस्थित लोगों से यह भी अपील की है कि कोई भी अपराध घटित हो रहा हो। उससे पहले पुलिस को सूचना दें। 100 नंबर डायल करके पुलिस को बुलाए। पुलिस सभी की सहयोगी है। पुलिस से डरे नहीं । अपराधियों को पकड़वाने में पुलिस की मदद करें।

गोराघाट थाना प्रभारी ने क्षेत्रीय लोगों के साथ मिलकर की शांति समिति की बैठक

शांति समिति की बैठक में थाना प्रभारी ने कोरोना वायरस पर विशेष जोर देते हुए उपस्थित सभी गणमान्य लोगों को इस बीमारी के संबंध में बताया। आज हमारा देश बहुत ही गंभीर बीमारी से जूझ रहा है दिल्ली आगरा आदि शहरों में इस बीमारी ने पैर पसार लिए हैं। हमें इस बीमारी से किस तरह बचना है इसके उपाय क्या है। इस पर थाना प्रभारी ने कहा है कि कोरोना वायरस से बचने के उपाय बताते हुए कहा है कि जागरूकता ही हमारी पहली प्राथमिकता है। इसके बाद इस बीमारी से बचने के लिए साफ सुथरा पका हुआ भोजन करें। समय-समय पर साबुन से हाथ धोएं। यात्रा पर जाने पर मास्क लगाकर चलें क्योंकि सफर में तरह तरह के लोग मिलते हैं और यह संक्रमित बीमारी है वह सांस और एक दूसरे के संपर्क में आने से फैलती है।

थाना प्रभारी अजय चानना ने यह भी बताया कि होली पर हुड़दंग करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही अवैध शराब की बिक्री पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा क्षेत्र को नशा मुक्त करने के लिए अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने उपस्थित सभी गणमान्य लोगों से सभी प्रकार के नशों से दूर रहने की भी अपील की है।