CABINET MEETING

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister Kamal Patel) ने दिवाली (Diwali) के मौके पर प्रदेश के किसानों (Farmers) को नया तोहफा (Present) दिया है। कमल पटेल ने शनिवार को नई घोषणा कर बताया कि किसानों को मंडी पर लगाए जाने वाले टैक्स में कटौती की जा रही है। कोरोना की मार झेलने के बाद इस फैसले से किसानों को थोड़ी राहत मिलेगी।

टैक्स पर किसानों को छूट
कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा मध्यप्रदेश सरकार किसानों की सरकार है। हम किसानों के हित में हमेशा प्रयासरत रहते हैं। उन्होंने कहा आज दिवाली के शुभ अवसर पर किसानों को प्रदेश सरकार की ओर से यह तोहफा है। अब मंडी में टैक्स पर किसानों को छूट मिलेगी। उन्होंने कहा मेहनत किसान करता है और फायदा बिचौलिये उठाते हैं। सरकार के इस फैसले से किसानों को फायदा मिलेगा। कृषि मंत्री कमल पटेल ने दिवाली के पर्व पर किसानों पर लगने वाले 1.70 पैसे के टैक्स को कम करके 50 पैसे कर दिया है। कमल पटेल ने बताया कि मध्य प्रदेश कृषि उपज मंडी अधिनियम के तहत मंडियों में होने वाले विक्रय पर लगने वाले टैक्स में प्रदेश सरकार ने व्यापारियों के हित में कमी करने का निर्णय लिया था। दिवाली के दिन आज उसको अमली जामा पहना दिया है। उन्होने बताया कि मंडियों में लगने वाले 20 पैसे निराश्रित निधि टैक्स को भी समाप्त कर दिया गया है। अब व्यापारियों को मात्र 50 पैसे टैक्स देना होगा। इस प्रकार से व्यापारियों को एक रुपए 20 पैसे की राहत प्रति 100 क्विंटल की खरीदी पर मिलेगी और व्यापारियों को 100 क्विंटल की खरीदी पर मात्र 50 पैसे ही मंडी टैक्स के रूप में चुकाना होगा। मंत्री कमल पटेल ने बताया कि शीघ्र ही मंत्रिमंडल की बैठक में अनुमोदन के पश्चात आदेश जारी कर दिए जाएंगे।

कांग्रेस पर साधा निशाना
वहीं पंडित जवाहरलाल नेहरू की 131वीं जयंती पर कांग्रेस कार्यालय में किसी प्रकार का कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया। जिस पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कांग्रेस अब मध्य प्रदेश में खत्म हो चुकी है। इसीलिए कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं हुआ, लेकिन चाचा नेहरू की जयंती पर मैं उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि देता हूं। कमल पटेल ने कहा उपचुनाव में हार के बाद कांग्रेस पूरी तरह से खत्म हो चुकी है और अभी तो कांग्रेस कोमा में चल रही है। दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने मिलकर पूरी कांग्रेस खत्म कर दी।