मप्र में ‘पबजी’ पर बैन की तैयारी, नशे की तरह बच्चों को लग रही गेम की लत

government-will-ban-on-'Pabji'-game-in-Madhya-pradesh-

भोपाल। जानलेवा बन चुके ब्लू व्हेल गेम के बाद अब इंटरनेट पर लोकप्रिय हो चुके पबजी (PUBG) गेम पर मध्य प्रदेश में बैन लगाने की तैयारी है| प्रदेश में परीक्षाओं का दौर शुरू हो चुका है| मार्च से बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली है, ऐसी स्तिथि में सरकार इस गेम को बैन कर सकती है| प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने यह जानकारी दी है। भाजपा विधायक यशपाल सिसोदिया ने इसकी मांग की थी। मप्र सरकार इसके लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखेगी।

मध्य प्रदेश विधानसभा में पबजी को बैन करने का मुद्दा उठा |  बीजेपी विधायक यशपाल सिंह सिसौदिया ने सदन में पबजी बैन करने का मामला उठाया | विधानसभा बजट सत्र की कार्यवाही के दौरान उन्होंने इसे खतरनाक बताते हुए कहा कि पबजी गैम से स्टूडेंट्स की पढ़ाई प्रभावित हो रही है| बीजेपी विधायक यशपाल सिंह सिसौदिया ने कहा कि पबजी गेम से बच्चों का आधुनिक हथियारों से परिचय हो रहा है. और उनमें नकारात्मकता का भाव उत्पन्न हो रहा है. इसके बाद गृह मंत्री बाला बच्चन ने मामले पर जवाब देते हुए कहा कि गेम को लेकर जानकारी मंगाई गई है. जल्द ही एमपी में गेम को बैन करने का निर्णय लिया जाएगा|

देश के सात राज्यों में पहले ही पबजी पर बैन लगाया जा चुका है। बच्चों के लगातार इस गेम को खेलने की वजह से पालक इसके खिलाफ बैन लगाने की मांग करते रहे हैं।  देश के सात राज्यों में पहले ही पबजी पर बैन लगाया जा चुका है। बच्चों के लगातार इस गेम को खेलने की वजह से पालक इसके खिलाफ बैन लगाने की मांग करते रहे हैं। PUBG मार्च 2017 में जारी हुआ था|  ये गेम एक जापानी थ्रिलर फ़िल्म ‘बैटल रोयाल’ से प्रभावित होकर बनाया गया जिसमें सरकार छात्रों के एक ग्रुप को जबरन मौत से लड़ने भेज देती है| PUBG में क़रीब 100 खिलाड़ी किसी टापू पर पैराशूट से छलांग लगाते हैं, हथियार खोजते हैं और एक-दूसरे को तब तक मारते रहते हैं जब तक कि उनमें से केवल एक ना बचा रह जाए| इस गेम की लोकप्रियता देश में तेजी से बढ़ रही है, गांव से लेकर शहरों तक बच्चे हाथ में मोबाइल लिए इस गेम को खेलते देखे जा सकते हैं| इससे बच्चों का ध्यान भटक रहा है और इसकी लत भी लग रही है| 

पीएम मोदी ने किया था जिक्र, ये PUBG वाला है क्या

यह गेम इतना फेमस हो गया है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस गेम के बारे में जानते हैं। अपने सम्बोधन में वह इसका जिक्र कर चुके हैं|   29 जनवरी को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में ‘परीक्षा पे चर्चा’ का आयोजन किया था। जहां काफी भीड़ इकट्ठा हो रखी थी। प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान दो हजार से ज्यादा बच्चों को संबोधित किया, जिसमें बच्चों के माता पिता भी शामिल थे। चर्चा में मोदी जी ने PUBG का जिक्र छेड़ा। चर्चा के दौरान एक माता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछा कि पहले मेरा बेटा पढ़ाई में ठीक था, लेकिन आजकल ऑनलाइन गेम्स की वजह से वो थोड़ा कमजोर हो गया है। इस बात का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि, “ये PUBG वाला है क्या”। मोदी के ऐसा कहते ही पूरा स्टेडियम तालियों की गूंज से भर उठा।