-Government-will-target-attack-on-law-and-order-bjp-will-protest

भोपाल। मध्य प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस सरकार एक माह में ही सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विपक्ष के निशाने पर आ गई है| प्रदेश में दो सनसनीखेज हत्याकांड को लेकर बीजेपी ने कमलनाथ सरकार पर सवाल उठाये हैं| अब तक कर्जमाफी को लेकर बीजेपी निशाने साध रही थी, अब कानून व्यवस्था को लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेगी| इसकी शुरुआत पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कर दी है| उन्होंने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार के आते ही अपराधियों के हौसले बुलंद हो गये हैं, लेकिन मैं चुप नहीं बैठूंगा।  वहीं बीजेपी प्रदेश भर में 19 जनवरी को जिला मुख्यालय पर कलेक्टरों को ज्ञापन सौंपेगी| प्रदेश अध्यक्ष  राकेश सिंह मुख्यालय भोपाल में पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन सौंपेंगे| 

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर ने जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने सत्ता परिवर्तन के साथ ही बिगड़ रही प्रदेश की कानून व्यवस्था पर गहरी चिंता व्यक्त की है। भाजपा इसके विरूद्ध कल 19 जनवरी को दोपहर 12 बजे सभी जिला मुख्यालयों पर कलेक्टर्स को ज्ञापन सौपेगी। प्रदेश अध्यक्ष मुख्यालय भोपाल में पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन सौंपने स्वयं जाएंगे।  

उन्होंने कहा है कि पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में कानून व्यवस्था के हालात अचानक गंभीर रूप लेने लगे हैं। गत दिनों भोपाल में अपराधियों को पकड़ने गई पुलिस पार्टी पर भारी पथराव और मारपीट, इंदौर में कारोबारी संदीप अग्रवाल को गोलियांे से भून दिया जाना और हाल ही में मंदसौर नगरपालिका के अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की बीच बाजार नृशंस हत्या, इस बात का सबूत है कि नई सरकार कानून व्यवस्था का राज कायम रखने में असमर्थ है अथवा उसकी कोई रूचि इस दिशा में नहीं है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी एक जिम्मेदार राजनीतिक दल होने के नाते इस जंगल राज को मूकदर्शक बनकर नहीं देख सकती। यदि अपराधों की निरंतरता इसी प्रकार बनी रही, तो प्रदेशवासियों की सुरक्षा के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं को सड़कों पर उतरने के लिए विवश होना पड़ेगा।