डबरा अवैध शराब फैक्ट्री मामला: 2 ASI समेत 5 पुलिसकर्मी निलंबित, TI लाइन अटैच

डबरा देहात थाने के बीट स्टाफ को निलंबित करने के अलावा एसपी अमित सांघी ने टी आई पर भी एक्शन लिया है लेकिन उन्हें निलंबित नहीं किया।

डबरा

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर जिले (Gwalior District) के डबरा देहात थाना क्षेत्र में पकड़ी गई अवैध शराब फैक्ट्री मामले में एसपी (Gwalior SP) अमित सांघी ने कड़ा एक्शन लिया है। एसपी ने अवैध शराब निर्माण पर बीट प्रभारी ASI सहित दो ASI, एक HC और दो आरक्षकों को निलंबित (Suspended) कर दिया है। इसके अलावा डबरा देहात थाने के टीआई को दोषी मानते हुए लाइन अटैच कर दिया है।

यह भी पढ़े..MP News : मेडिकल छात्रों को बड़ा झटका- कॉलेज सीट छोड़ने पर देनी होगी पूरी फीस

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के आदेश के बाद ग्वालियर एसपी अमित सांघी के निर्देश पर जिले में अवैध शराब निर्माण को रोकने के लिए अभियान चलाया जा रहा है लेकिन बावजूद इसके डबरा देहात थाना क्षेत्र में पुलिस ने एक गाँव में संचालित अवैध शराब की फैक्ट्री पकड़ी। एसपी को मुखबिर से सूचना मिली थी कि देहात थाने के सरदारों का डेरा पर लंबे समय से अवैध शराब का कारोबार चल रहा है।

एसपी ने डबरा सिटी थाने को दबिश के निर्देश दिये जिसके बाद पुलिस ने गुरुवार को चीनौर रोड पर महाकाल वेयर हाउस के पीछे सरदारों का डेरा पर छापा मारकर बड़ी संख्या में अवैध शराब (illicit liquor) पकड़ी। पुलिस ने यहाँ से 388 पेटी देशी शराब, पैकिंग मशीन, शराब के 10,000 खाली क्वाटर, रैपर, होलो ग्राम, ड्रम सहित अन्य सामग्री पकड़ी। पकड़ी गई शराब की कीमत करीब 16 लाख बताई गई।

यह भी पढ़े.. VIDEO: सफाईकर्मी ने CMO को जड़ा थप्पड़, मचा बवाल, कलेक्टर के पास पहुंचा मामला

देहात क्षेत्र में शराब फैक्ट्री मिलने के बाद प्रारंभिक जांच में पता चला कि यहाँ ये कारोबार पिछले तीन महीने से चल रहा है। अवैध शराब निर्माण रोकने में लापरवाही उजागर होने के बाद एसपी अमित सांघी मे एडिशनल एसपी देहात जयराज कुबेर के प्रतिवेदन पर डबरा देहात थाने क्षेत्र में अवैध शराब निर्माण क्षेत्र के बीट प्रभारी ASI राम सिंह गौर, कार्यवाहक ASI शिव बहादुर सिंह, कार्यवाहक हेड कांस्टेबल रूप किशोर, आरक्षक प्रदीप और आरक्षक प्रवीण को निलंबित कर दिया है।

निलंबन आदेश में एसपी ने सख्त शब्दों में लिखा कि अवैध शराब निर्माण को रोकने के लिए समय समय पर निर्देश दिये जाते है लेकिन 3 महीने से बीट क्षेत्र में अवैध शराब कारोबार जारी था जिससे इस क्षेत्र के अधिकारियों और कर्मचारियों की इसमें प्रथम दृष्टया संलिप्तता और संदिग्ध आचरण दिखाई देता है। इसलिए बीट में पदस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को निलंबित कर लाइन अटैच किया जाता है।

टीआई को किया लाइन अटैच

डबरा देहात थाने के बीट स्टाफ को निलंबित करने के अलावा एसपी अमित सांघी ने टी आई पर भी एक्शन लिया है लेकिन उन्हें निलंबित नहीं किया। एसपी ने  देहात थाने के टीआई के डी सिंह कुशवाह को लाइन अटैच कर दिया है। एसपी ने अपने आदेश में लिखा है कि टी आई 23 जनवरी 2021 से देहात थाने में पदस्थ है फिर भी उनके क्षेत्र में 3 महीने से अवैध शराब की फैक्ट्री चल रही थी।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र में जारी रहेगा बारिश का सिलसिला, इन 10 संभागों में अलर्ट

जबकि समय समय पर अवैध शराब निर्माण रोकने के निर्देश मीटिंग में दिये जाते रहे हैं। शराब फैक्ट्री पकड़े जाने से स्पष्ट होता है कि टीआई का सूचना तंत्र और व्यावसायिक दक्षता में कमी है साथ ही अधीनस्थों एवं अपराधियों पर अंकुश नहीं है। टीआई के डी सिंह कुशवाह को डबरा देहात थाने से हटाकर पुलिस लाइन अटैच किया जाता है।

डबरा, ग्वालियर डबरा अवैध शराब फैक्ट्री मामला: 2 ASI समेत 5 पुलिसकर्मी निलंबित, TI लाइन अटैच