ट्रैफिक वार्डन बनेंगे “महाराज”, प्रशासन से बोले- ट्रेनिंग दो, ड्यूटी लगाओ

ज्योतिरादित्य सिंधिया

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। दो दिवसीय दौरे पर ग्वालियर आये राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने ग्वालियर (Gwalior) विकास से जुड़े कई कार्यक्रमों में शिरकत की। उन्होंने ट्रैफ़िक सुधार के मुद्दों पर आयोजित परिवहन यातायात सेमिनार में भी हिस्सा लिया। यहाँ उन्होंने कहा कि शहर का यातायात सही रहे ये हम सबकी जिम्मेदारी है। इसलिए शहर के प्रमुख लोगों को ट्रैफ़िक वार्डन बनाया जाए। मैं खुद ट्रैफ़िक वार्डन बनूंगा और सड़क पर ड्यूटी (Duty) दूंगा।

यह भी पढ़े… MP Board : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिए यह निर्देश, 42 हजार छात्र होंगे लाभान्वित

शहर के एक निजी होटल में आयोजित परिवहन यातायात (Transport traffic) सेमिनार में शामिल हुए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए सामूहिक प्रयास जरूरी हैं। सिंधिया ने कहा कि ग्वालियर की यातायात व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिये नए सिरे से ट्रैफिक प्लान बनाया जाए। ट्रैफिक प्लान में आधुनिक तकनीक का प्रयोग कर इसे क्रियान्वित करने की व्यवस्था की जाए।

उन्होंने यह भी कहा कि ट्रैफिक प्लान के क्रियान्वयन का जिम्मा न केवल शासन-प्रशासन का होगा बल्कि इसमें समाज के प्रबुद्ध लोगों को भी जोड़ना आवश्यक होगा। इसके लिये ट्रैफिक वार्डन बनाए जाएं। ट्रैफिक वार्डन के रूप में मैं स्वयं भी कार्य करूँगा। ट्रैफिक वार्डनों का एक प्रशिक्षण भी शीघ्र प्रशासन आयोजित करे, जिसमें मैं स्वयं प्रशिक्षण लेकर यातायात प्रबंधन में सहभागी बनूँगा।

श्री सिंधिया ने कहा कि यातायात प्लान के साथ-साथ हमें डेन्सिटी प्लान भी तैयार करना होगा। शहर में यातायात प्रबंधन के लिये हॉकर्स जोन निर्माण, टेम्पो, घोड़ा गाड़ी एवं अन्य सवारी वाहनों के लिये एक विस्तृत प्लान भी तैयार करना होगा। ग्वालियर नगर निगम एवं जिला प्रशासन द्वारा शहर में जो पार्किंग स्थल बनाए गए हैं उनका बेहतर उपयोग हो, इस पर भी विशेष कार्य करने की आवश्यकता है।

सिंधिया ने कहा कि यातायात नियमों का पालन हो और लोगों मे सिविल सेन्स बढ़े, इसके लिये जन जागरूकता अभियान भी चलाना आवश्यक है। समाज के विभिन्न सामाजिक संगठन इस दिशा में अगुआई करें। शहर के विकास के लिये हम सबको जिम्मेदार नागरिक भी बनना होगा। यातायात नियमों का जहां भी उल्लंघन होता पाए जाए हमें उसे सचेत करने हेतु रोको-टोको का काम भी करना चाहिए। उन्होंने सभी व्यापारी बंधुओं से भी आग्रह किया कि वे अपनी-अपनी दुकानों के सामने पार्किंग की बेहतर व्यवस्था विकसित करें। दुकानदार अपने वाहन अपनी दुकान के सामने न रखकर निर्धारित पार्किंग स्थलों पर रखें, यह भी संकल्प लें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here