सिंधिया की इस मांग को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दी हरी झंडी

Gwalior-will-be-developed-in-metropolitan-cities

भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की ग्वालियर को मेट्रोपालिटिन क्षेत्र में शामिल किए जाने की मांग को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मान लिया है। अब ग्वालियर को भी मेट्रोपॉलिटन सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। सोमवार को श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया और महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी समेत ग्वालियर क्षेत्र के विधायकों ने सीएम कमलनाथ से मुलाकात की । 

चंबल क्षेत्र के विकास को लेकर इस क्षेत्र के मंत्री और विधायकों ने सोमवार को मंत्रालय में मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात की और उनसे चंबल संभाग के विकास कार्यों के संबंध में चर्चा की। बताया जा रहा है कि पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने समर्थक मंत्रियों को चंबल क्षेत्र के विकास के लिये सीएम से मिलने का निर्देश दिया था। उसके बाद संभाग के विकास कार्यों का ब्लू प्रिंट लेकर वे सीएम से मिलने पहुंचे। इस प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने की। इस दौरान उनके साथ खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी सहित कई विधायक शामिल थे।

मुलाकात में सीएम कमलनाथ ने ग्वालियर को भी मेट्रोपॉलिटन सिटी प्रोजेक्ट में शामिल करने के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। पिछले दिनों पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पत्र लिखकर ग्वालियर को मेट्रोपॉलिटन सिटी प्रोजेक्ट में शामिल करने की मांग सीएम कमलनाथ से की थी । 

सिंधिया ने जताया आभार 

सिंधिया ने उनकी मांग पर सीएम की सहमति को लेकर आभार जताया है| उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ग्वालियर-चम्बल संभाग की जनभावनाओं का सम्मान करते हुए, मेरे और इस क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के अनुरोध पर मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने भोपाल-इंदौर के साथ ग्वालियर चम्बल संभाग को भी मेट्रोपोलिटन एरिया में सम्मलित करने का फैसला लिया है। मैं उनका हृदय से धन्यवाद करता हूँ। सरकार के इस निर्णय से ना सिर्फ ग्वालियर-चम्बल के विकास को पंख लगेंगे बल्कि इस क्षेत्र को नोयडा-गुड़गांव की तर्ज़ पर भव्य रूप से विकसित भी किया जा सकेगा।