पूरे प्रदेश पर छाया मानसून, 26 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

heavy-rain-alert-in-26-districts-of-madhya-pradesh-

भोपाल| मध्य प्रदेश में बारिश से मौसम सुहावना हो गया है| मानसून पूरे प्रदेश पर छा चुका है| जिसके चलते ज्यादातर जिलों में रुक रुक कर तो कहीं लगातार बारिश हो रही है| दक्षिण-पश्चिम मानसून ने बुधवार को ग्वालियर में भी अपनी आमद दर्ज करा दी।  जिसके चलते अधिकांश स्थानों पर रुक-रुक कर बरसात का सिलसिला जारी है।  मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश की संभावना जताई है। मालवा, विंध्य और बुंदेखंड में बीते 24 घंटे में अच्छी बारिश हुई है। कई जगह नदी नाले उफान पर आ गए हैं| राजधानी में गुरुवार को सुबह से कुछ इलाकों में रुक-रुककर हल्की बारिश हो रही है।  सुबह से हो रही रिमझिम बारिश से मौसम सुहावना बना हुआ है| 

कम दबाव का क्षेत्र उत्तर-पूर्वी मप्र और उससे लगे छत्तीसगढ़ पर सक्रिय है। इसे बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से लगातार नमी मिल रही है। यह सिस्टम पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ रहा है। साथ ही इसके प्रदेश के मध्य में पहुंचने के बाद फिर पूर्व की तरफ रुख करने का अनुमान है। इस सिस्टम से दो-तीन दिन प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर अच्छी बरसात की संभावना है। बुधवार को ग्वालियर-चंबल संभाग में मानसून के दस्तक देने की घोषणा कर दी । संभाग में मुरैना व श्योपुर जिले को छोड़कर पूरे अंचल में मानसून की अधिकृत तौर पर आमद हो गई है। 


महाकोशल-विंध्य में भी झमाझम 

महाकोशल-विंध्य में मानसून मेहरबान है| यहां बुधवार को दमोह समेत अन्य जिलों में कहीं तेज तो कहीं रिमझिम बारिश का दौर चलता रहा। दमोह में झमाझम बारिश से नदी-नाले उफना गए और कई गांवों का संपर्क टूट गया। बालाघाट में 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। सीधी के ग्रामीण क्षेत्रों में दोपहर 2 ���जे से और कटनी में लगभग 15 मिनट तक झमाझम बारिश हुई। उमरिया में भी तीसरे दिन बारिश होती रही। मंडला-डिंडौरी में भी बारिश हुई। सतना, शहडोल, सिवनी नरसिंहपुर भी लगातार बारिश से तरबतर हो गए।


इंदौर में भारी बारिश का अलर्ट 

मालवा निमाड़ के जिलों में भी अच्छी बारिश हो रही है| शहर में मंगलवार रात झमाझम 61.8 मिलीमीटर बारिश के बाद बुधवार को दिन में बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार को शहर में मध्यम और भारी बारिश होने की संभावना है। मौसमविदों के मुताबिक अभी हवा के कम दबाव का क्षेत्र प्रदेश के उत्तरपूर्व में बना हुआ है। एक टर्फ लाइन पंजाब, हरियाणा व राजस्थान से उत्तरी मप्र से गुजर रही है। इसके अलावा दक्षिण गुजरात और आसपास के इलाके में ऊपरी हवा का चक्रवात 2.6 और 7.6 क��लोमीटर की दूरी पर बना है। इससे भी पश्चिमी मप्र सहित कई हिस्सों में नमी आ रही है। इस कारण गुरुवार को कुछ समय के लिए बारिश होने की संभावना है।   मौसम विभाग के मुताबिक दो-तीन दिन में मानसून का सिस्टम जबलपुर होते हुए उप्र की ओर निकल जाएगा, इसके कारण इंदौर में बारिश का असर कम होगा। इस मौसम में बुधवार तक 120.6 मिमी (पौने पांच इंच) बारिश हो चुकी है। वहीं मंदसौर में नदियाँ उफान पर हैं| 


यहाँ भारी बारिश का अलर्ट 

 मौसम विभाग द्वारा आने वाले 48 घंटे के दौरान प्रदेश के 26 जिलो में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इनमें से कई जिलो में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। ये है भारी बारिश वाले जिले मध्यप्रदेश के धार, इंदौर, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, बडवानी, बुरहानपुर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, उमरिया, अनूपपुर, शहडोल, डिडोरी, छिंदवाडा, जबलपुर, मंडला, बालाघाट, नरसिहपुर, सिवनी, कटनी, उज्जैन, रतलाम, मंदसौर, सीहोर जिलो में भारी बारिश और कई जिलो में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। जबकि मध्यप्रदेश के बाकी जिलों में भी गरज-चमक के साथ बौछारे पडने का दौर रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here