MP कई जिलों में तेज बारिश के साथ गिरे ओले, फसलों को नुकसान, अगले 24 घंटे झमाझम के आसार

12637

भोपाल।

एमपी में नए साल की शुरुआत बारिश के साथ हुई। सिवनी, बालाघाट और कटनी में ओले गिरे तो शहडोल समेत अन्य जिलों में झमाझम बारिश हुई ।अचानक हो रहे मौसम में बदलाव के चलते पारा नीचे लुढक आया है और ठंड बढ़ गई है। कई जिलों में चार जनवरी तक स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी गई है। भोपाल, इंदौर समेत कई जिलों में आज गुरुवार सुबह कोहरा छाया हुआ है। लोग धूप के लिए तरस गए है। वही बारिश और ओलो ने किसानों की परेशानी बढ़ी दी है।इसके साथ ही कोहरे के चलते हादसों की भी खबरें सामने आ रही है।मौसम विभाग की माने तो तीन चार दिन मौसम ऐसा ही बना रहेगा।

दरअसल, नए साल के आते ही मौसम ने करवट ले ली है। साल के पहले दिन सिवनी ,बालाघाट और कटनी  में  जमकर ओलावृष्टि हुई। सिवनी में देर रात 2 बजे जमकर ओले गिरे, वहीं बालाघाट के निलजी, पल्हेरा और समनापुर में भी ओलावृष्टि हुई। गुरुवार सुबह से यहां बारिश होती रही। कटनी शहर व आसपास के ग्रामीण इलाके में भी ओला वृष्टि हुई। जिससे किसानों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।इधर शहडोल में बीती रात हुई जमकर बारिश से शहर में जगह-जगह पानी भर गया। रात में औसत 9 मिलीमीटर बारिश शहडोल जिले में दर्ज की गई है। जिसके चलते स्कूलों में फिलहाल छुट्टी घोषित कर दी गई है।

फसलों को नुकसान की आशंका

बारिश और ओलो से फसलों को भारी नुकसान की आशंका है।कृषि विभाग ने फसलों को पाले से बचाव के लिए किसानों को सलाह दी है ।विभाग द्वारा कहा गया है कि पाले से बचाव के लिए फसलों में हल्की सिचाई करें। खेत के चारों कोनों में धुंआ करके भी पाले के प्रकोप से फसल को बचाया जा सकता है।

क्या कहता है मौसम विभाग

मौसम विभाग की माने तो अगले 24 घंटों में होशंगाबाद, शहडोल, जबलपुर, भोपाल, रीवा और सागर संभागों के जिलों में कहीं कहीं बारिश होने के आसार हैं तथा ग्वालियर, दतिया, मुरैना एवं भिंड जिलों में कहीं कहीं ओलावृष्टि भी हो सकती है। विभाग ने आने वाले दिनों में मौसम के और बिगड़ने का अनुमान जताया है। साथ ही कहा कि आने वाले दिनों में ठिठुरन बढ़ेगी। प्रदेश में 3 या 4 जनवरी से पारा फिर लुढ़कने लगेगा और कडाके की ठंड शुरू हो जाएगी।

इन जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने 24 घंटे में प्रदेश के 35 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है। इसमें भोपाल, इंदौर, धार, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, आगर-मालवा, देवास, नीमच, मंदसौर, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, गुना, अशोकनगर, होशंगाबाद, हरदा, सागर, दमोह, टीकमगढ़, छतरपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, नरसिंहपुर, अनूपपुर, डिंडोरी और जबलपुर में ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here