यहाँ फिर हुआ महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का पूजन, जयंती पर हिंदू महासभा ने जलाए दीपक

ग्वालियर/अतुल सक्सेना

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे (nathuram godse) का एक बार फिर ग्वालियर में पूजन किया गया। हिंदू महासभा (hindu mahasabha) ने पार्टी कार्यालय पर गोडसे की 111वींं जयंती (111 jayanti) मनाई और उसके चित्र के सामने 111 दीप जलाए। पार्टी ने दावा किया कि ग्वालियर में तीन हजार से अधिक घरों में गोडसे के चित्र का पूजन किया गया है।

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ जयवीर भारद्वाज (Dr. jaiveer bharadwaj) के मुताबिक अंखड भारत के संकल्प के साथ घर पर रहे, सुरक्षित रहे को ध्यान में रखते हुए तीन हजार परिवारों को नाथूराम गोडसे (godse) का चित्र वितरित किया और फिर सभी ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए चित्र का पूजन किया। डॉ.जयवीर भारद्वाज ने अपने कुछ साथियों के साथ दौलतगंज स्थित पार्टी कार्यालय पर गोडसे के चित्र के सामने 111 दीप जलाए और चित्र का पूजन किया। डॉ भारद्वाज ने कहा कि देश का विभाजन कांग्रेस की देन है । नाथूराम गोड्से ने गांधी (Gandhi) की हत्या नहीं की बल्कि देश को विभाजित कर पाकिस्तान को 75 करोड़ रुपए दिलवाने वाले गांधी का वध किया। ऐसे देश प्रेम के प्रतीक पुण्तायात्मा पण्डित नाथूराम गोड्से की 111 वीं जयंती हमने मनाई है।

कई वर्षों से ग्वालियर में हो रहा है गोडसे पूजन

गौरतलब है कि राष्ट्रपिता के हत्यारे गोडसे का पूजन और उसका महिमा मंडन ग्वालियर में पहली बार नहीं हो रहा। ये पिछले कई वर्षों से जारी है। पार्टी कार्यालय पर हर साल गोडसे की जयंती और पुण्य तिथि पर हिंदू महासभा पूजन करती है और भाजपा एवं कांग्रेस इसका दबी जुबान से विरोध करते हैं।

जयंती पर हिंदू महासभा ने राशन वितरित किया

डॉ जयवीर भारद्वाज ने बताया कि पार्टी ने इस मौके पर सैकड़ों गरीब परिवारों को राशन वितरण किया। हिन्दू महासभा के जिलाध्यक्ष हरिदास अग्रवाल ने बताया कि पार्टी ने तय किया है कि ग्वालियर से निकलने वाला एक भी प्रवासी व्यक्ति भूखा नहीं जाएगा। हिन्दू महासभा उन्हें भोजन और राशन उपलब्ध करायेगी।

यहाँ फिर हुआ महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का पूजन, जयंती पर हिंदू महासभा ने जलाए दीपक