गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कमलनाथ पर कटाक्ष, ‘हे नाथ..यदुवंशियों से इतनी दूरी क्यों’

narottam mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के मध्यप्रदेश में प्रवेश से पूर्व ही कांग्रेस ने यात्रा के बहाने वरिष्ठ नेताओं को ठिकाने लगाने का काम शुरू कर दिया है। कमलनाथ (kamalnath) ने वरिष्ठ नेता अरुण यादव (Arun Yaday) को हटा कर भारत जोड़ो यात्रा के लिए निर्दलीय सुरेन्द्र सिंह शेरा (Surendra Singh Shera) को यात्रा प्रभारी बना दिया हैं। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव को यात्रा प्रभारी बनाने के बाद हटा देने पर वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से कहा है कि ‘इतना भर बता दो कि यदुवंशियों से इतनी दूरी क्यों हैं।’

“दल पर नहीं, निर्दलीय पर भरोसा है कमलनाथ को”, शेरा को लेकर बीजेपी ने फिर कसा तंज

नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि कांग्रेस हमेशा से ही आदिवासी व ओबीसी वर्ग के नेताओं को अपमानित कर उनका हक मारती आयी है । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अरुण यादव का इस तरह अपमान करना कांग्रेस के लिए कोई नई बात नही है। नेताओं के अपमान का पूरा इतिहास है। इससे पहले अरुण यादव का लोकसभा टिकिट ऐन वक्त पर काट दिया, जबकि वह लंबे समय से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे। इससे पहले उनके पिता सुभाष यादव जी के साथ भी कांग्रेस ने अन्याय किया था, वह मुख्यमंत्री बनने के प्रबल दावेदार थे। विधायकों का बहुमत भी उनके साथ था लेकिन उनकी जगह दिग्विजय सिंह को मुख्यमंत्री बना दिया गया था।

गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने आज तक ओबीसी वर्ग के साथ अन्याय ही किया है। आज तक कांग्रेस ने एक भी ओबीसी वर्ग के व्यक्ति को प्रदेश का सीएम नही बनाया। यहाँ तक की नेता प्रतिपक्ष तक भी नहीं बनाया। ओबीसी ही नही आदिवासी वर्ग के साथ भी आज तक अन्याय ही किया है। स्व. श्रीमती जमुना देवी, शिवभानू सिंह सोलंकी सहित कई अन्य नेता इसके उदाहरण हैं।