CM के निर्देश के बाद भी जारी है चयनित सहायक प्राध्यापकों की भूख हड़ताल

भोपाल| नियुक्ति के इन्तजार में संघर्ष कर रहे एमपी पीएससी से चयनित सहायक प्राध्यापकों की मांग पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित सहायक प्राध्यापकों को नियुक्ति पत्र जारी करने के निर्देश दिए हैं। हालाँकि मुख्यमंत्री के ट्वीट के बाद भी सहायक प्राध्यापकों का धरना जारी है| 

पीएससी चयनित सहायक प्राध्यापक संघ के अध्यक्ष डॉ. प्रकाश खातरकर ने कहा कि मुख्यमंत्री के ट्वीट का हम स्वागत करते हैं, लेकिन जब तक सभी पीएससी चयनित सहायक प्राध्यापकों के नियुक्ति पत्र उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर अपलोड नहीं हो जाते, तब तक हमारा संविधान रक्षा आंदोलन और भूख हड़ताल जारी रहेगी।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा ‘मेरे द्वारा प्रदेश में पीएससी से चयनित विद्वानों के लिए नियुक्ति पत्र जारी करने के निर्देश दे दिए हैं , इसमें संशय की कोई गुंजाइश नहीं है। साथ ही जो अतिथि विद्वान पहले से कार्यरत हैं ,वह भी यथावत रहेंगे’। इससे पहले मप्र लोक सेवा आयोग (एमपी पीएससी) से चयनित सहायक प्राध्यापक राजधानी के नीलम पार्क में क्रमिक भूख हड़ताल पर डटे रहे। मंगलवार को करीब 32 सहायक प्राध्यापक भूख हड़ताल में शामिल हुए।

संघ का कहना है कि पिछले 15 महीनों से हमें सिर्फ आश्वासन मिल रहा है, इसलिए अब नियुक्ति पत्र लेकर ही मानेंगे। खातरकर ने कहा कि नियुक्ति पत्र मिलने के बाद अब प्रदेश में धन्यवाद यात्रा भी निकालेंगे।

CM के निर्देश के बाद भी जारी है चयनित सहायक प्राध्यापकों की भूख हड़ताल