इंदिरा-नेहरू का गुणगान करने वाले IAS को मिली कलेक्टरी, अपराध बढ़ने पर बदले भोपाल IG

ias-and-ips-transfer-ajay-gangwar-become-collector

भोपाल। राज्य सरकार ने देर रात भारतीय प्रशासनिक सेवा एवं भारतीय पुलिस सेवा के अफसरों के थोकबंद तबादला आदेश जारी किए हैं। जिसमें उन अफसरों को भी तवज्जो मिली है, जो शिवराज सरकार में लूप लाइन में थे। तीन साल पहले पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और जवाहरलाल नेहरू की सोशल मीडिया पर तारीफ करने पर बड़वानी कलेक्टर से हटाए गए अजय गंगवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नीमच कलेक्टर बनाया है। कांग्रेस नेताओं से पटरी नहीं बैठ पाने की वजह से भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े को हटाया गया है। राजधानी में महिला अपराध समेत अन्य अपराध नहीं थमने पर आईजी जयदीप प्रसाद पर गाज गिरी है। 

राज्य शासन ने 33 आईएएस एवं 37 आईपीएस अफसरों के तबादला किए हैं। जिसमें 15 कलेक्टर एवं इतनी ही संख्या में पुलिस अधीक्षक बदले गए हैं। भाजपा ने कमलनाथ सरकार के मंत्री के साथ बारात में डांस करने की शिकायत पर चुनाव आयोग से हटवाए गए अमित सिंह को फिर से जबलपुर की कमान सौंपी गई है। इसी तरह होमगार्ड में एक-दूसरे के खिलाफ सरकार को पत्र लिखकर विवादों में रहने वाले डीजी महान भारत सागर और एडीजी मनीष शंकर शर्मा के प्रभार बदले गए हैं। भोपाल में पिछले कुछ महीनों में अपराध बढ़े। जबकि आईजी कार्यालय से थानों में प्रभारियों की सीधी नियुक्ति की जा रही थी। इससे नाराज होकर जयदीप प्रसाद केा हटाया गया है। विधानसभा चुनाव के बाद फरवरी में सीहोर एसपी से हटाए गए राजेश चंदल को शिवपुरी का एसपी बनाया गया है। इसके अलावा कटनी एसपी हिमानी खन्ना, शहडोल एसपी कुमार सौरभ, सिवनी एसपी ललित शाक्यवार, सीधी एसपी तरुण नायक, धार एसपी वीरेन्द्र सिंह, खंडवा एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, मंदसौर एसपी विवेक अग्रवाल, शाजापुर एसपी शैलेन्द्र चौहान, सिंगरौली एसपी दीपक शुक्ला को कांग्रेस नेताओं की शिकायत पर हटाया गया है। 

सख्ती छवि की वजह से हटे बामरा

नगरीय प्रशासन आयुक्त गुलशन बामरा को ईमानदार छवि महंगी पड़ गई। विभाग के कामों में सख्ती की वजह से उनकी सरकार से पटरी नहीं बैठ पा रही थी। ऐसे में उन्हें सागर संभागायुक्त बनाया गया है। वहीं सागर संभागउपायुक्त वीरेन्द्र सिंह रावत को शाजापुर कलेक्टर बनाया गया है। वे शाजापुर में जिपं सीईओ रह चुके हैं। वहीं भाजपा नेताओं के साथ अच्छे संबंधों की वजह से जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज को हटाया गया है। अजय गुप्ता को आगर-मालवा से हटाकर सीहोर कलेक्टर बनाया गया है। गुप्ता की आईएएस पत्नी शिल्पा गुप्ता भोपाल में पदस्थ हैं। कटनी कलेक्टर पंकज जैन को बिटिया का आंगनबाड़ी में प्रवेश कराकर वाहवाही लूटना शासन को नागवार लगा। क्योंकि उनकी आईएएस पत्नी भोपाल में पदस्थ हैं। वहीं आईएएस दंपति सीहोर कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा एवं रायसेन कलेक्टर षणमुख प्रिया मिश्रा के स्टडी लीव पर जाने की वजह से हटाया गया है।

इंदिरा-नेहरू की तारीफ पर नपे थे आईएएस 

देश में जहां मोदी सरकार के काम को पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी की सरकारों से बेहतर बताने की होड़ मची थी, तब बड़वानी के तत्कालीन कलेक्टर अजय गंगवार ने फेसबुक के जरिए इंदिर और नेहरू के कामकाज की तारीफ कर दी। जिसके चलते गंगवार को बड़वानी कलेक्टरी गंवानी पड़ी। बड़वानी के तत्कालीन कलेक्टर अजय गंगवार ने 26 मई 2016 को फेसबुक पर जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी की तारीफ में पोस्ट की थी। यह मामला सुर्खियों में आने के बाद भाजपा सरकार ने गंगवार का उसी दिन तबादला आदेश जारी कर दिया। उस समय अंटोनी डिसा मप्र के मुख्य सचिव थे। तब से ही यह अधिकारी लूप लाइन में रहे और नई सरकार ने भी उनकी सुध नहीं ली, आखिरकार अब उन्हें कलेक्टरी सौंपी गई है|