कांग्रेस का वार- फ़्लोर टेस्ट के बदले BJP कोरोना में जल्दबाजी दिखाती तो MP के ये हालत ना होते

भोपाल।

सत्ता से हटने के बाद भी कांग्रेस(congress) और कमलनाथ(kamalnath) सरकार के सभी मंत्री कोरोना(corona) को लेकर बीजेपी(bjp) और शिवराज(shivraj) सरकार की घेराबंदी किये हुए है। सोशल मीडिया(social media) पर पूर्व मंत्री और कांग्रेस ने सरकार और सिंधिया(scindia) समर्थकों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। प्रदेश में जैसे जैसे कोरोना के आकड़े बढ़ते जा रहे, वैसे वैसे कांग्रेस की जुबानी जंग भी तेज़ होती जा रही है। इसी बीच एमपी कांग्रेस ने ट्वीट कर राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण का जिम्मेदार बीजेपी को ठहराया है। एमपी कांग्रेस(MP Congress) ने कहा है कि बीजेपी ने जितनी आतुरता फ्लोर टेस्ट(floor test) को दिखाई थी उतनी अगर कोरोना को लेकर दिखाती तो आज प्रदेश की स्थिति कुछ और होती।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि जिस वक्त बीजेपी को कोरोना से लड़ना था। वह सरकार गिराने में लगी हुई थी। वही एक अन्य ट्वीट में एमपी कांग्रेस ने कहा है कि जहां एक तरफ मध्यप्रदेश में लोग कोरोना से मर रहे हैं। वही बीजेपी आंकड़ेबाजी के खेल में लगी है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि बीजेपी जितनी आतुरता फ्लोर टेस्ट के लिए दिखा रही थी। अगर उसका 1% कोरोना टेस्ट(corona test) के लिए दिखा लेती तो आज मध्यप्रदेश के हालात कुछ और होते। वहीं एक अन्य ट्वीट में शिवराज के साथ साथ प्रधानमंत्री मोदी को निशाने पर लेते हुए मध्यप्रदेश कांग्रेस ने कहा है कि प्रदेश समेत पूरे देश में कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण की जिम्मेदार सिर्फ बीजेपी की सत्ता की भूख है।

कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी को जब कोरोना से लड़ना था तब वह कमलनाथ सरकार गिराने में मशगूल थे। बीजेपी ने जनता के जिंदगी बेचकर मध्य प्रदेश की सरकार खरीदी है। इसी के साथ एक अन्य ट्वीट में एमपी कांग्रेस ने लिखा है कि शिवराज सरकार की लीपापोती जा रही है। एमपी में जहां लोग महामारी से मर रहे हैं वहां सरकार आखिरी बाजी में लगी है। 3000 रिपोर्ट पेंटिंग होने पर सरकार टेस्ट करने की क्षमता बढ़ाने की वजह से सैंपल की संख्या ही कम करने में लगी है ऐसे हम कोरोना से जीतेंगे या केवल मरेंगे।