निसर्ग का असर: MP के कई जिलों में झमाझम बारिश, इन जिलों में अलर्ट

भोपाल।

महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकराने के बाद चक्रवात निसर्ग(Cyclone Nisarga) का असर मुंबई के साथ एमपी(mp) में भी देखने को मिल रहा है। प्रदेश का मौसम सुहाना हो गया है और कई जिलों में तेज बारिश शुरु हो गई है।बड़वानी, इंदौर,उज्जैन, बुरहानपुर समेत कई जिलों में बारिश हो रही है।।मौसम विभाग की माने तो प्रदेश के 15 से ज्यादा जिलों में भारी बारिश होने हो सकती है। विभाग ने बुधवार-गुरुवार को अधिकांश स्थानों पर तेज हवा के साथ भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज ने भी जनता सतर्क रहने की अपील की है।

दऱअसल, बुरहानुपर में दोपहर करीब एक बजे आंधी के साथ तेज बारिश हुई। सुबह बैतूल और डिंडौरी सहित कई स्थानों पर बारिश हुई। तूफान की तेज हवा से तापमान में भी गिरावट आई है। इसके कारण लालबाग रोड समेत पूरा शहर तरबतर हो गया। बड़वानी में भी सुबह से ही बूंदाबांदी हो रही है।जबलपुर भोपाल समेत कई जिलों में तेज हवाएं चल रही है। बारिश के आसार बने हुए है। वहीं, इंदौर कमिश्नर ने हालात को देखते हुए क्षेत्र में मुनादी करने के निर्देश जारी किए हैं। जबकि उज्जैन में तूफान को देखते हुए कलेक्टर ने जिलेवासियों से घरों में रहने की अपील की है।तूफान की तेज हवा से तापमान में भी गिरावट आई है। मालवा-निमाड़ सहित प्रदेश के कई हिस्सों में शाम तक तेज बारिश हो सकती है।

कलेक्टर ने की घरों में रहने की अपील

कलेक्टर आशीष सिंह (Collector Ashish Singh) ने उज्जैन जिले (ujjain) के निवासियों को आगाह किया है कि मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार निसर्ग तूफान का असर उज्जैन जिले में संभावित है ।यहां पर आगामी 24 घंटे में 50 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से तेज हवा चलने की संभावना है । इस दौरान आकाशीय बिजली गिरने के आसार हैं, तेज हवाओं के चलते पेड़ उखड़ने ,कच्चे खपरैल के मकानों को नुकसान पहुंचने केले की फसल को नुकसान पहुंचने की संभावना है। अतः सभी नागरिकों से अपने-अपने घरों में रहने की अपील की गई है एवं सावधानी बरतने को कहा गया है. कलेक्टर ने जिले के सभी एसडीएम एवं तहसीलदारों तथा पुलिसकर्मियों एवम अन्य सुरक्षा कर्मियों को भी चेतावनी जारी करते हुए तैयार रहने को कहा है । जिससे आपात स्थिति में तुरंत आम जनता को राहत पहुंचाई जा सके ।

आपदा प्रबंधन पूरी तरह तैयार-इंदौर कमिश्नर

वही इंदौर कमिश्नर आकाश त्रिपाठी ने तूफान को लेकर आदेश जारी करते हुए कहा कि आपदा प्रबंधन पूरी तरह से तैयार रहे। क्योंकि तूफान के कारण बिजली गिरने, हवाएं चलने और तेज बारिश की संभावना जताई गई है। ऐसे में हालात को देखते हुए जरूरत पड़ने पर क्षेत्र में मुनादी करके लाउडस्पीकर से, सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को सचेत करें। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में गेहूं और चने की खरीदी चल रही है। उपज को सुरक्षित स्थान तक नहीं पहुंचाया जा सका है, इसलिए जल्द उपज को वेयर हाउस तक पहुंचाया जाए। यदि ऐसा नहीं हो पा रहा है तो उपज को तत्काल तिरपाल से ढककर नुकसान से बचाएं।

शिवराज बोले-सतर्क रहे, सुरक्षित रहे
भारत के पश्चिमी क्षेत्रों के साथ देश के कुछ अन्य भागों में कल चक्रवात ‘निसर्ग’ के आने की आशंका है। आप सब जागरुक रहें, सतर्क रहें। अपना और अपनों का हरसंभव ध्यान रखें। सभी सुरक्षित रहें, ईश्वर से यही प्रार्थना! #NisargaCyclone

इन जिलों में तेज बारिश के आसार
विभाग की माने तो गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से होते हुए निसर्ग तूफान मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में पहुंचेगा. इस तूफान का असर 5 जून तक रहेगा।उन्होंने कहा कि 3, 4 और 5 जून को इंदौर, उज्जैन संभाग के 15 जिलों के अलावा भोपाल में भी भारी बारिश हो सकती है। कुछ जगहों पर 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चलने की संभावनाएं हैं।गुरुवार को ज्यादा बारिश की संभावना है। शुक्रवार तक चक्रवात का असर कमजोर होने लगेगा, इसलिए बारिश भी कम होने की उम्मीद है। विभाग ने बुधवार-गुरुवार को अधिकांश स्थानों पर तेज हवा के साथ भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है।

निसर्ग का असर: MP के कई जिलों में झमाझम बारिश, इन जिलों में अलर्ट