दिल्ली में सिंधिया ने भरी हुंकार, ‘बदला नहीं बदलाव जरूरी है’

नई दिल्ली/भोपाल| देश की राजधानी दिल्ली में केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ शनिवार को कांग्रेस ने रामलीला मैदान पर ‘भारत बचाओ’ रैली का आयोजन किया| केंद्र के खिलाफ इस बड़े प्रदर्शन में मध्य प्रदेश समेत अलग अलग राज्यों से कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता पहुंचे| इस रैली में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी सहित पार्टी के अन्य दिग्गज नेताओं ने मंच से मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला| वहीं इसी क्रम में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मोदी सरकार पर जमकर बरसे और कहा कि बदला नहीं बदलाव चाहिए, यह आगाज है और यह आवाज देश भर में जाए कि अब बदलाव की जरुरत है|

सिंधिया ने मंच से सम्बोधित करते हुए कहा हिंदी फिल्म तो हम देखते है, लेकिन जब हिंदी की फिल्म रियल लाइफ में तब्दील हो जाये तो क्या स्तिथि उत्पन्न होगी, स्तिथि यह उत्पन्न होगी कि कुछ ऐसे दृश्य होंगे, जिनमे युवा बेरोजगार है, किसान कर्जदार है, गरीब लाचार है, घरेलु उत्पादन की दर नीचे गिर रही है, व्यापर पर तालाबंदी का ठोक लग चुका है, और बैंक घोटालों पर गरीब का पैसा चन्दा के आधार पर वसूला जा रहा है| अगर यह फिल्म का दृश्य हे तो इस फिल्म का शीर्षक है ‘सबकुछ ठीक है ऑल इस वेल’|

केंद्र की मोदी सरकार की विफलताओं को निशाने पर लेते हुए सिंधिया ने कहा आज देश का किसान, मजदूर, नौजवान दर -दर की ठोकरें खा रहा है| अच्छे दिन कच्चे साबित हो चुके हैं| किसान को खुशहाल करने का ख्वाब आज उन्हें कुचल रहा है| तुम्हारी फाइलों में गांव का मौसम आज गुलाबी है, लेकिन आंकड़े यह झूठे हैं यह दावा किताबी है| देश का अन्नदाता पेड़ो से लटककर सौ रहा है, अच्छे सपने के दिन देख बेबस होकर राह देख रहा है| यह आगाज है, यह आवाज देश भर में जाए कि अब बदलाव की जरुरत है|