एम्पायर ग्रुप के 27 ठिकानों पर आयकर का छापा, 2 करोड़ की नकदी और ज्वेलरी जब्त

इंदौर।

आयकर विभाग की इंदौर इन्वेस्टिगेशन विंग ने एम्पायर ग्रुप के 27 ठिकानों पर  छापेमार कार्रवाई की है।विंग ने रियल एस्टेट फर्म एम्पायर ग्रुप के मनीषपुरी स्थित घर, दफ्तरों पर छापामार कार्रवाई की। शुरुआती जांच में दो करोड़ रुपए नकद और ज्वेलरी का खुलासा हुआ है।

दरअसल, बुधवार को आयकर विभाग ने टैक्स चोरी की शिकायत पर इंदौर के बड़े रियल स्टेट करोबारी अरुण गोयल और उनके पार्टनर विजय अग्रवाल के प्रतिष्ठानों पर दबिश दी थी। अरुण गोयल और विजय अग्रवाल एम्पायर ग्रुप के संचालक हैं। उनका शहर में इस ग्रुप का रियल स्टेट का बड़ा कारोबार है। विजय अग्रवाल एम्पायर ग्रुप के डायरेक्टर हैं। जिन्होंने अब तक 2 करोड़ रुपए सरेंडर किए हैं। इनकी जांच की जाएगी। इसके अलावा टीम को सर्च में 50 बड़े ट्रांजेक्शन मिले हैं।

बताया जा रहा है कि अग्रवाल बदर्स द्वारा बायपास रोड पर कई टाउनशिप का निर्माण किया । इसके अलावा कल्याण टोल टैक्स का संचालन भी इनके पास है। इनकी जांच के लिए टीम अलग-अलग ठिकानों पहुंच रही है, ताकि इनसे जुड़े कागजात हासिल कर सकें।  इसमें डॉ. संजय गोकुलदास और कल्याण टोल कंपनी शामिल है। सभी दूर दस्तावेजों की पड़ताल के बाद टीमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु रवाना की गई हैं। वहां भी इन कंपनियों के कारोबार करने की जानकारी सामने आई है। इस वित्तीय वर्ष में आयकर इन्वेस्टिगेशन विंग की यह पहली कार्रवाई है।