MP में अमानवीय घटनाएं, मानवाधिकार आयोग ने दो मामलों में जारी किया नोटिस

मानव अधिकार आयोग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश मानवाधिकार आयोग (MP Human Rights Commission) ने मानव अधिकार हनन से जुड़े दो मामलों में स्वसंज्ञान लेकर संबंधितों को नोटिस जारी किया है। पहला मामला आदिवासी युवक को ट्रक से सौ मीटर तक घसीटने का है, जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं दूसरा मामला रीवा में युवक को डंडे बेल्ट से पीटने का है।

बहन के लेने गए ससुराल पक्ष ने मायके वालों पर किया लाठियों से हमला, रिपोर्ट कराने गए तो TI ने थाने से भगाया

भील युवक को बेदर्दी से घसीटने के मामले में आयोग ने डीजीपी एवं एसपी नीमच को नोटिस जारी कर तीन सप्ताह में जवाब मांगा है। बता दें कि 26 अगस्त को नीमच जिले के सिंगोली क्षेत्र में चोरी की शंका में एक आदिवासी युवक कान्हा उर्फ कन्हैया को पकड़ने के बाद सरपंच पति सहित आठ लोगों ने उसे बुरी तरह पीटा। फिर पैर बांधकर लोडिंग वाहन से करीब सौ मीटर तक उसे घसीटा। आरोपी यहीं नहीं रुके, उन्होंने हाथ जोड़कर छोड़ देने की विनती कर रहे कान्हा से दोबारा मारपीट की। बाद में कान्हा को नीमच लाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया।

दूसरे मामले में रीवा में एक युवक को डंडे और बेल्ट से पीटकर अधमरा कर दिया गया। इस मामले में भी डीजीपी एवं एसपी रीवा को नोटिस जारी कर तीन सप्ताह में जवाब मांगा है। रीवा जिले में बैटरी चोरी के शक में कुछ लोगों ने अरशद कमाल नाम के युवक को डंडे बेल्ट से बड़ी बेरहमी से पीटकर अधमरा कर दिया। एक युवक तो उसके सीने पर पैर रखकर खड़ा हो गया। इस दौरान भीड़ तमाशबीन बनकर सब देखती रही। कोई भी उसे बचाने नहीं आया। घटना बीते शनिवार की है। इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई और अगले दिन चार लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया।