IPS TRANSFER : विधायक पुत्र पर केस दर्ज करना पड़ा महंगा, मुरैना SP पर गिरी गाज

-IPS-transfer-in-madhya-pradesh-morena-sp-removed-who-case-filed-against-congress-MLA's-son

भोपाल| मध्य प्रदेश में तबादलों का दौर जारी है| राज्य शासन ने एक बार फिर भारतीय पुलिस सेवा के अफसरों के तबादले किये हैं| मुरैना और श्योपुर जिले के एसपी बदले गए हैं| मंत्री न बनाये जाने से नाराज चल रहे कांग्रेस विधायक एदल सिंह कंसाना के बेटे के खिलाफ मुकदमा दर्ज करना मुरैना एसपी रियाज इकबाल को महंगा पड़ा है| मुरैना पुलिस अधीक्षक रियाज अहमद का तबादला कर उन्हें पुलिस मुख्‍यालय भोपाल में सहायक पुलिस महानिरीक्षक बनाया गया है। उमरिया पुलिस अधीक्षक असित यादव के तबादला आदेश में संशोधन करते हुए मुरैना पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। वहीं आईपीएस नागेंद्र सिंह श्योपुर के एसपी बनाये गए हैं|

मुरैना जिले में सुमावली से विधायक एदल सिंह कंसाना के बेटे राहुल सिंह कंसाना के खिलाफ टोल नाका के कर्मचारियों से की गई मारपीट के मामले में एसपी रियाज इकबाल पर गाज गिरी है| सत्ता परिवर्तन के बाद से ही प्रदेश में तबादलों का ताबड़तोड़ दौर शुरू हुआ है| इसमें राजनीतिक हस्तक्षेप भी हावी है| बीते दिनों पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक एदल सिंह कंसाना के बेटे राहुल सिंह के टोल कर्मियों पर फायरिंग के मामले के बाद एसपी रियाज इकबाल ने 307 का मुकदमा दर्ज किया था|  एदल सिंह कंसाना ने पुलिस पर फर्जी मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया था। इस घटनाक्रम से विधायक कंसाना बेहद नाराज थे। सूत्रों के मुताबिक उन्होंने इसके लिए एसपी रियाज इकबाल को निशाने पर लिया । एसपी को हटाने के लिए उन्होंने सरकार और पुलिस प्रशासन के मुखिया से भी बात की । एसपी को लेकर दवाब बनाया गया, इसके कयास लगाए जा रहे थे कि जल्द ही उन्हें हटाया जा सकता है| इस बीच मंगलवार को तबादला आदेश जारी हो गए|  एसपी रहते हुए रियाज इकबाल मुरैना जिले में तबाड़तोड़ कार्रवाई कर रहे थे जिससे रेत माफिया में भी हड़कंप मचा हुआ था| आखिरकार उन्हें भोपाल बुला लिया गया| जनवरी में ही उन्हें सिंगरौली से तबादला कर मुरैना की कमान सौंपी गई थी|  डेढ़ माह से भी कम वक्त में उनका फिर तबादला कर दिया गया|