जबलपुर : निजी अस्पताल को निर्धारत शुल्क से ज्यादा लेना पड़ गया महंगा, कोविड मरीज के भर्ती पर लगा प्रतिबंध

जबलपुर के निजी अस्पताल को निर्धारत शुल्क से ज्यादा बिल बनाना महंगा पड़ गया। कलेक्टर ने अस्पताल में कोविड मरीज के भर्ती करने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना (Covid-19) इलाज का शासन द्वारा निर्धारत शुल्क से ज्यादा लेना राइट टाऊन स्थित सेंट्रल इंडिया किडनी (Central India Kidney Hospital)को उस समय मंहगा पड़ गया जब सीएमएचओ ने अस्पताल पर कोविड मरीज के भर्ती पर प्रतिबंध लगा दिया। सीएमएचओ ने आदेश जारी करते हुए अस्पताल प्रबंधन से कहा कि वह आगामी आदेश तक अस्पताल में कोविड मरीज भर्ती न करें और मरीज पहले से भर्ती है उनका समुचित इलाज किया जाए।

यह भी पढ़ें:-मुरैना : ग्रामीण महिला ने स्वास्थ्य कार्यकर्ता पर किया लट्ठ से हमला, वीडियो वायरल

जबलपुर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा (Jabalpur Collector Karmveer Sharma) द्वारा निर्देशित किया गया है कि शासन की गाइड लाइन के विपरीत जाकर निजी अस्पताल मरीजों से ज्यादा बिल वसूलते हैं तो उन पर कार्रवाई की जाए। इसी के तहत बीते दिनों सेंट्रल इंडिया किडनी अस्पताल में भर्ती एक मरीज के परिजनों ने कलेक्टर से शिकायत की थी। अस्पताल प्रबंधन ने तय रेट से ज्यादा बिल वसूला। कलेक्टर ने शिकायत पर संयुक्त कलेक्टर और प्रभारी अधिकारी विक्टोरिया को जांच के लिए अस्पताल भेजा जहां पर दस्तावेजों की जांच की गई तो अस्पताल प्रबंधन द्वारा गाइड लाइन के विपरीत जाकर मरीज के परिजनों से ज्यादा बिल वसूलना पाया गया।