ऋण माफी योजना: ‘कर्जमाफी’ की राशि का भुगतान शुरू, CM बोले ‘जो वादा किया वो निभाया’

jai-kisan-rin-mafi-yojana-start-by-cm-kamalnath-from-namali-ratlam

रतलाम| कांग्रेस के लिए संजीवनी बनी कर्जमाफी की घोषणा सत्ता में आने के दो माह बाद आज साकार हो गई है| मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार दोपहर रतलाम जिले के नामली से जय किसान फसल ऋण माफी योजना का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश के किसानों को जो वचन दिया था आज उसकी शुरूआत की जा रही है। जय किसान ऋण माफी योजना के तहत आज किसानों के खातों में राशि अंतरण की जाएगी। इस योजना के तहत प्रदेश के 25 लाख से ज्यादा किसान लाभान्वित होंगे। 1 मार्च 2019 तक योजना के तहत राशि प्राप्त होगी। योजना में पात्र किसानों के बैंक खाते में भुगतान के साथ ही किसानों को सम्मान-पत्र देने का निर्णय भी लिया गया है। इसके लिए 25 फरवरी से एक मार्च तक 383 तहसीलों में सम्मेलन किए जाएंगे।  इसी दौरान मुख्यमंत्री श्री नाथ ने 197 करोड़ रुपये के  विकास कार्यों का  भी लोकार्पण व शिलान्यास किया। 

इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा मैं आपको निराश नहीं होने दूंगा। हम मध्यप्रदेश का नया नक्शा तैयार करेंगे। मध्यप्रदेश में निवेश लाया जाएगा| सीएम ने कहा – चुनाव के पहले हमने किसानों से कर्जमाफी का वादा किया था, जिसे हमने निभाया है। हमारे वचन पत्र में किए गए सभी वादे हम पूरा करेंगे। सीएम ने कहा हमने कहा था कि सरकार आपको हर काम का हिसाब देगी, मैं आज आपको 57 दिन का हिसाब दे रहा हूं। रतलाम जिले के 40 हजार 403 किसानों को कुल 134 करोड़ 1 लाख 11 हजार 295 रुपए की ऋणमाफी के प्रमाण पत्र दिए जा रहे हैं। हम नया मध्यप्रदेश का बनाएंगे, मप्र का नया नक्शा तैयार करेंगे। मध्यप्रदेश में रोजगार पैदा किए जाएंगे, निवेश लाया जाएगा। पिछले 15 सालों में युवाओं को भविष्य की चिंता सताने लगी थी। उन्हें लगने लगा था कि उनका क्या होगा, लेकिन हमने युवाओं की इस चिंता पर काम कर शुरू कर दिया है। जल्द ही इसका रिजल्ट आपके सामने होगा।

सीएम ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा पिछली सरकार ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। इनके राज में प्रदेश बलात्कार और बेरोजगारी में नंबर वन बन गया था। यदि हमारा किसान संपन्न नहीं होगा तो दुकानाें, बाजारों की रोशनी गायब हो जाएगी। सीएम ने मंदसौर गोलीकांड पर कहा कि 25 दिसंबर प्रदेश के लिए काला दिवस था, जो भाजपा सरकार की देन है। इनके राज में अन्नदाता पर गोलियां चलीं। केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा  हमने किसानों का करोड़ों का कर्जा माफ किया, लेकिन केंद्र सरकार किसानों के लिए 6 हजार रुपए की योजना लेकर आई है।