जीतू बोले- “मौत और मातम की दिवाली पहली बार देखी”, कांग्रेस ने कहा- अगला टास्क क्या

भोपाल।

रविवार को प्रधानमंत्री मोदी के आवाहन पर पूरे देश में रात के 9:00 बजे 9 मिनट के लिए सभी बत्ती को बंद कर मोमबत्ती, टोर्च, दीए और फोन की फ्लैश लाइट जलाने का आवाहन किया गया था। जिसके बाद समस्त देशवासियों ने इस में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। मध्यप्रदेश में भी रविवार को दिवाली जैसा माहौल देखने को मिला। जहां लोगों ने ना सिर्फ अपने घर की बत्तियां बुझाई वही अपने घरों को दीए एवं लाइट से जगमगा दिया। जिसके बाद पूर्व मंत्री एवं राऊ विधायक जीतू पटवारी ने भी कोरोना वायरस के आंकड़ों के साथ ट्वीट करते हुए लिखा की मौत और मातम की दिवाली पहली बार देखी है। वहीं मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपने ट्वीट में कहा है कि हमने खुशियों में खूब दीप जलाएं हैं किंतु महामारी में हम दिवाली नहीं बना सकते। वही अपने दूसरे ट्वीट में मध्य प्रदेश कांग्रेस ने मोदी पर तंज कसते हुए लिखा है कि अब प्रधान शो मेन मोदी जी का अगला टास्क क्या होगा? जिसके साथ ही मध्य प्रदेश कांग्रेस ने चार विकल्प भी दिए हैं। बालकनी से ॐ का उच्चारण करना, अपनी छत पर गोबर कंडों से धुआं करना, माथा पीट कर शोक ध्वनि निकालना या 1 दिन पूरे निर्जला व्रत रखना। बता दे कि प्रधानमंत्री मोदी के आवाहन पर भोपाल सहित मध्य प्रदेश के अन्य जिलों में दीप एवं लाइट जलाएं गए। इस दौरान लोगों ने भारत मां की जय के नारे भी लगाए। वही प्रदेश में लोगों ने बड़ी मात्रा में पटाखे भी जलाए। इससे पहले पीएम मोदी ने 28 मार्च को सभी देशवासियों से अपील की थी कि वह शाम के 5:00 बजे ताली, थाली एवं शंख बजाकर कोरोना वायरस से लड़ रहे लोगों का धन्यवाद करें।