कमलनाथ के मंत्री ने खोला राज, बताया कौन होगा इंदौर से उम्मीदवार

jitu-patwari-says-indore-son-will-contest-loksabha-elections-2019

भोपाल/इंदौर।

लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने 21  उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है, लेकिन हाईप्रोफाइल सीट इंदौर को  होल्ड पर रखा हुआ है। कांग्रेस अब तक यहां से उम्मीदवार के नाम को फायनल नही कर पाई है। खबर है कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी यहां से नाम फायनल करेंगें। इसी बीच कमलनाथ सरकार में खेल मंत्री का बड़ा बयान सामने आय़ा है। मंत्री का कहना है कि पार्टी ने उम्मीदवार फायनल कर लिया है, वो इंदौर का बेटा है एक दो दिन में नाम का एलान कर दिया जाएगा।जीतू के इस सस्पेंस ने राजनैतिक गलियारों में हलचल मचा दी है।हर कोई इंदौर के बेटे का नाम जानने के लिए उत्साहित नजर आ रहा है, इस बयान से बीजेपी की धड़कने भी तेज हो गई है, क्योंकि बीजेपी ने भी अपने पत्ते नही खोले है।

दरअसल, इंदौर सीट को लेकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने अभी उम्मीदवार का एलान नहीं किया है, लेकिन इसी बीच खेल मंत्री जीतू पटवारी का बड़ा बयान सामने आया है। पटवारी का कहना है कि इंदौर सीट से कांग्रेस ने उम्मीदवार का नाम फाइनल कर लिया है। वो इंदौर का बेटा है एक दो दिन में जिसके नाम का एलान होगा। लेकिन पटवारी ने ये नहीं बताया कि वो इंदौर का बेटा कौन है जो बीजेपी उम्मीदवार के सामने मैदान में उतरने वाला है। इंदौर सीट से लोकसभा चुनाव को लेकर जीतू पटवारी की भी दावेदारी है। अब क्या इंदौर का बेटा जीतू पटवारी ही है ये सवाल है। साथ ही पटवारी ने ये भी कहा कि इसबार इंदौर की जनता और बीजेपी दोनों ही सुमित्रा महाजन को टिकट देने के मूड में नहीं है।जीतू के इस बयान ने ना सिर्फ बीजेपी बल्कि कांग्रेस में भी खलबली मचा दी है। चारों तरफ चारों का बाजार गर्म हो चला है, हर किसी की जुबान पर एक ही सवाल है कि आखिर इंदौर का बेटा है कौन…?

इन नेताओं के नाम भी दौड़ में शामिल

कांग्रेस की ओर से इंदौर लोकसभा सीट के चुनावी टिकट के दावेदारों में स्थानीय कांग्रेस नेता पंकज संघवी, प्रदेश कांग्रेस समिति की उपाध्यक्ष अर्चना जायसवाल और इस समिति के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा के नाम चर्चा में हैं। इनके अलावा, सूबे की कमलनाथ सरकार के खेल और युवा कल्याण मंत्री जीतू पटवारी भी घोषणा कर चुके हैं कि अगर कांग्रेस आलाकमान का आदेश होगा, तो वह इंदौर से लोकसभा चुनाव लड़ने को तैयार हैं।पटवारी इंदौर जिले की ही राऊ सीट के दो बार के कांग्रेस विधायक हैं।

बीजेपी-कांग्रेस के पास 4 -4  विधानसभा सीटें

ग्रामीण और शहरी म���दाताओं की मिश्रित आबादी वाले इंदौर लोकसभा क्षेत्र में विधानसभा की कुल आठ सीटें आती हैं। पिछले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और भाजपा ने इनमें से चार-चार सीटें जीती थीं। यानी विधानसभा चुनावों के नतीजों की दलीय स्थिति के आधार पर अनुमान लगाया जाये, तो इस बार इंदौर लोकसभा सीट की चुनावी जंग में दोनों धुर प्रतिद्वंद्वी सियासी खेमों के पास जीत के समान अवसर दिखायी देते हैं।वर्तमान में यहां लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन सांसद है, पिछले कई सालों से यहां बीजेपी का कब्जा रहा है और कांग्रेस हर हाल में इस सीट को हथियाने की कोशिश में है।